Accident

    हापुड़. एक बड़ी खबर के अनुसार हापुड़ (Hapur) में सड़क हादसे (Road Accident) में बीते रविवार रात एक महिला की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि किसी वाहन ने उसे टक्कर मार दी थी। लेकिन, अब यह खबर महज दुर्घटना की नहीं बल्कि मानवता के कत्ल की है। वह भी इसीलिए क्‍योंकि हादसे के बाद उसका शव हाइवे पर पड़ा रहा। जिससे हर मिनट एक वाहन गुजरता रहा। वहां किसी ने भी रुकने की जहमत नहीं उठाई।

    इधर सोमवार सुबह जब तक पुलिस को सूचना मिली, तब तक शव से मांस भी गायब हो चुका था। वाहनों के पहियों ने कई किमी तक इस औरत की लाश के मांस के टुकड़े फैला दिए थे। वहां बस शव की जगह कपड़ों में लिपटा हुआ महिला का बस कंकाल मिला। पुलिस अब इन्ही कपड़ों की मदद से उसकी पहचान की कोशिश कर रही है।

    रात भर शव के ऊपर से चलती रही गाड़ियां:

    घटना के अनुसार बाबूगढ़ के नैशनल हाइवे 9 पर यह हादसा हुआ था। यहाँ के कुचेसर रोड पर चौपले के पास महिला को किसी वाहन ने टक्कर मार दी थी। गहरी चोट के चलते वह वहीं हाइवे पर ही गिर गई। इसी दौरान दूसरे जा रहे वाहन ने उसे कुचल दिया। यह घटना बीते रविवार रात करीब 11-12 बजे के आसपास की होने की आशंका जताई जा रही है। इधर महिला की मौत हुई तो रात के अँधेरे में दूसरे वाहन उसके शव के ऊपर से ही गुजरने लगे। पूरी रातभर यही सिलसिला चलता रहा।

    पुलिस को सोमवार को मिली जानकारी :

    इधर बीते सोमवार सुबह किसी ने पुलिस को इस भयंकर हादसे की सूचना दी। जब तक पुलिस वहां पहुँचती तब तक महिला के शव से मांस भी गायब हो चुका था। सिर्फ उसकी हड्डियां ही कपड़ों में लिपटी थीं। वाहनों के टायरों में लिपटे मांस के टुकड़े कई किमी दूर तक फैले हुए थे। पुलिस ने अब आसपास से मांस के टुकड़े उठाकर और कंकाल को जांच के लिए भेजा है। वहीं कपड़ों के आधार पर महिला के शिनाख्त की कोशिश हो रही है। इसके साथ ही आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज से भी तलाशी जा रही है। इस घटना से वाकई एक बार फिर इंसानियत शर्मसार हो गयी है।

    डरें नहीं, ऐसी घटना पर पुलिस को दें खबर : 

    इस मुद्दे पर सीओ ट्रैफिक वैभव पांडेय का कहना था कि, घटना बाबूगढ़ के NH-9 पुल पर हुई। देर रात में नैशनल हाइवे पर ज्यादा ट्रैफिक गुजरता है। संभवतः उक्तमहिला किसी वाहन से गिर गई होगी। उसका फिलहाल DNA टेस्‍ट कराया जा रहा है। ऐसे घटनाओं पर राहगीरों को  अहम जिम्मेदारी निभानी चाहिए। अगर फौरन सूचना मिलती तो शायद महिला को बचाया जा सकता था। ऐसे मामलों में निडर होकर पुलिस को सूचना दे सकते हैं। पुलिस से उन्हें कभी कोई परेशानी नहीं होगी। फिलहाल पुलिस की विवेचना जारी है।