gun

लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pardesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) के हजरतगंज कोतवाली क्षेत्र के लाप्‍लास स्थित समाजवादी पार्टी के विधान परिषद सदस्‍य अमित यादव के सरकारी आवास में जन्‍मदिन की एक पार्टी में गोली चलने से शुक्रवार/ शनिवार की दरम्यानी रात राकेश रावत नामक एक व्‍यक्ति की मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

पुलिस उपायुक्‍त (सेंट्रल) सोमेन वर्मा ने ‘पीटीआई-भाषा’ को शनिवार को बताया कि घटना के संदर्भ में मुकदमा दर्ज किया जा रहा है और इसके बाद आवश्‍यक कार्रवाई होगी। वर्मा ने बताया कि हिरासत में लिए गये आरोपियों से गहनता से पूछताछ की जा रही है । पुलिस के अनुसार शाहजहां पुर से सपा विधान पार्षद अमित यादव के लाप्‍लास स्थित सरकारी आवास संख्‍या 201 में शुक्रवार की रात्रि को गाजीपुर थाना क्षेत्र के इस्‍माइलगंज निवासी विनय यादव के जन्‍मदिन की पार्टी आयोजित की गई थी।

उन्होंने बताया कि इसी पार्टी में बाराबंकी जिले के सतरिख थाना क्षेत्र के कजियाना निवासी राकेश रावत भी शामिल हुआ, जिसे पिस्‍टल की छीनाझपटी के दौरान गोली लग गई। राकेश को ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गयी । पुलिस के अनुसार जिस समय पार्टी चल रही थी उस समय आवास में राकेश के अलावा विनय यादव, लखनऊ के इंदिरा नगर थाना क्षेत्र के राजीव नगर निवासी ज्ञानेंद्र कुमार, इंदिरा नगर क्षेत्र के ही सर्वोदयनगर निवासी आफ़ताब आलम और शाहजहांपुर जिले के कैलिया निवासी पंकज सिंह मौजूद थे। पुलिस ने बताया कि पंकज सिंह इस आवास में पिछले पांच वर्ष से रह रहा था।

लाप्‍लास के सरकारी आवास में विधायक, अधिकारी एवं पत्रकारों के अलावा और भी कई महत्‍वपूर्ण लोग रहते हैं। पुलिस के अनुसार पंकज सिंह ने ही रात्रि में करीब दो बजे 112 नंबर पर फोन कर बताया कि वह ट्रामा सेंटर से बोल रहा है। उसने बताया कि राकेश रावत को गोली लगी है, वह बंदूक किसी और को दिखा रहे थे लेकिन खुद पर चल गई और वह घायल हैं। उन्होंने बताया कि करीब पांच मिनट बाद पंकज ने पुन: फोन कर बताया कि हंसी मजाक में विनय के हाथ में मौजूद राईफल से फ़ायरिंग हो गई और राकेश को गोली लग गई। राकेश काे ट्रॉमा सेंटर लाया गया है। इसके बाद उसने कई तरह के बयान दिए। शुरुआती पूछताछ में पुलिस को चारों युवकों ने बताया कि पिस्‍टल राकेश रावत लेकर आया था और विनय को उसने दिया था।

विनय जब पिस्‍टल चेक कर रहा था तभी फायर हाे गया लेकिन जब पुलिस ने गहनता से पूछताछ की तो पता चला कि पिस्‍टल पंकज की थी और उसके आवास पर पहले से मौजूद थी। बीयर के नशे में पिस्‍टल की छीना झपटी में फायर होने से राकेश को गोली लग गई। इसके बाद राकेश को सभी मिलकर ट्रॉमा सेंटर ले गये जहां उसकी मौत हो गई। सूचना पर हजरतगंज कोतवाली प्रभारी पुलिस बल के साथ घटनास्‍थल पर पहुंचे और घटनास्‍थल को सुरक्षित करते हुए फील्‍ड यूनिट द्वारा फोरेंसिक जांच कराई गई। घटनास्‍थल से पुलिस ने पिस्‍टल और मैगजीन और कारतूस बरामद किया है। इस संदर्भ में आवश्‍यक कार्यवाही चल रही है।