accident

प्रतापगढ़. उत्तर प्रदेश (UttarPradesh) के प्रतापगढ़ (Pratap Garh) जिले में लखनऊ-प्रयागराज (Luknow Prayagraj) राष्ट्रीय राजमार्ग पर तेज रफ्तार बोलेरो गाड़ी सड़क पर खड़े ट्रक से जा टकरायी, इस हादसे में कम से कम 14 लोगो की मौत हो गई। हादसे के शिकार लोग शादी समारोह से लौट रहे थे। एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी जानकारी दी । घटना गुरुवार रात साढ़े 11 की बताई जा रही है। इस हादसे का शिकार हुए 14 लोगों में से 6 नाबालिग किशोर और मासूम भी शामिल हैं।

क्या है घटना:

अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने बताया, ‘‘यह हादसा बृहस्पतिवार देर रात को हुआ। बोलेरो गाड़ी में सवार लोग बारात में शामिल होकर लौट रहे थे तभी लखनऊ-प्रयागराज राजमार्ग पर यह हादसा हो गया।” उन्होंने बताया कि मरने वालों में कुछ बच्चे भी शामिल है, विस्तृत जानकारी की प्रतीक्षा है ।प्राप्त जानकारी के अनुसार सभी लोग कुंडा के नवाबगंज इलाके से शादी समारोह में शामिल होकर घर लौट रहे थे। 

हादसे का कारण क्या नींद की झपकी…

बताया जा रहा है कि इस एक्‍सीडेंट का कारण नींद में झपकी आने से हादसा होने का अंदेशा जताया जा रहा है। ये सभी बाराती नबाबगंज थाना इलाके के शेखपुर गांव में शादी-समारोह में शामिल होकर घर वापस लौट रहे थे।घटना गुरुवार रात साढ़े 11 की बताई जा रही है। इस हादसे का शिकार हुए 14 लोगों में से 6 नाबालिग किशोर और मासूम भी शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक, ये 12 बाराती कुंडा कोतवाली के जिगरापुर चौसा गांव के रहने वाले हैं जबकी बोलेरो ड्राइवर समेत दो लोग कुंडा इलाके के अन्य गांव के रहने वाले बताये जा रहे हैं। सूचना मिलने के बाद एसपी अनुराग आर्य भारी पुलिस बल के साथ  घटना स्‍थल पर पहुंचे थे। मतक में मासूम बच्चे और किशोर भी 7 की संख्या में शामिल हैं। वहीं, इस हादसे में बब्बू, दिनेश, पवन कुमार, दयाराम, अमन, रामसमुज, अंश, गौरव, नान भैया, सचिन, हिमांशु, मिथिलेश, अभिमन्यू, पारस नाथ यादव की मौत हो चुकी है।

गैस-कटर से काट शव निकाले बाहर..

इस दार्द्नाक हादसे कि सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने बोलेरो गाड़ी को गैस-कटर से काट कर सभी 14 लोगों के शव को बाहर निकाला गया। हादसे को पूरा रेस्क्यू करने में पुलिस टीम को तकरीबन दो घंटे का से अधिक का समय लग गया था। सभी के शवों को कब्जे में लेते हुए पुलिस ने पीएम के लिए भेज दिया है । 

 

मुख्यमंत्री योगी ने जताया दुख:

वहीं अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रतापगढ़ हादसे पर दुख जताया है। योगी ने वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर पहुंचने और पीड़ितों को हर संभव सहायता प्रदान करने का निर्देश दिया है।इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रत्येक मृतक के परिजनों को 2-2 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा भी की है, जिन्होंने प्रतापगढ़ सड़क दुर्घटना में अपनी जान गंवा दी।

प्रियंका गाँधी ने भी जताया दुख: 

इस घटना पर प्रियंका गाँधी ने भी अपना दुख व्यक्त किया है. उन्होंने फेसबुक में लिखा कि, “उप्र के प्रतापगढ़ में हुए हृदय विदारक हादसे के बारे में सुनकर मन आहत हुआ है। बारात से लौटते वक्त एक दुर्भाग्यपूर्ण सड़क हादसे में बच्चों सहित 14 लोगों की मृत्यु हो गई।पीड़ित परिवारों की व्यथा के बारे में सोचकर मेरा मन बहुत दुखी है। मैं सबके लिए प्रार्थना करती हूँ। भगवान उन्हें यह दुख सहने की शक्ति दें।”