कोरोना काल में योगी सरकार ने तोड़े गेंहू खरीद में पिछले सारे रिकॉर्ड

    लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में किसानों को लाभ पहुंचाने वाली योगी सरकार (Yogi Government) प्रत्येक दिन नए मुकाम हासिल कर रही है। सूबे में अभी तक कुल 39.58 लाख मी.टन गेंहू खरीद (Wheat Purchase) की जा चुकी है। इसके माध्यम से 828697 किसानों (Farmers) को सीधा लाभ मिला है, जबकि पिछले साल आज तक 23.92 लाख मी. टन गेहूं खरीद ही हो पाई थी। कोरोना की लड़ाई में पूरी ताकत से जुटी योगी सरकार किसानों के हित में हर संभव प्रयास करने में जुटी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर किसानों की बकाया 7817.68 करोड़ की राशि में से 6029.27 करोड़ का भुगतान किया जा चुका है। सरकार की ओर से किये जा रहे प्रयासों से यूपी के किसान काफी खुश है। उनका कहना है कि पिछली सरकारों में कभी उनको इतनी सहूलियत नहीं मिली थीं।

    यह पहला मौका है जब उत्तर प्रदेश में गेहूं खरीद के दौरान किसानों को भुगतान भी तेजी से किया जा रहा है। मात्र 72 घंटों के भीतर पैसा सीधे किसानों के एकाउंट में पहुंच रहा है। इतना ही नहीं ई-पॉप मशीनों का इस्तेमाल होने से मंडियों में बिचौलिये भी खत्म हो गये हैं। वर्षा की चेतावनी को देखते हुए सरकार हर सावधानी बरत रही है। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने गेहूं खरीद में क्रांति लाते हुए पहली बार मंडियों में न केवल अत्याधुनिक सुविधाओं को बढ़ाया बल्कि किसानों के लिये मंडियों में पानी, बैठने के लिये छायादार व्यवस्था के सख्त निर्देश भी दिये। 

    किसानों को मिली बड़ी राहत

    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पहली बार किसानों को उनके खेत के 10 किमी के दायरे में गेहूं खरीदकर उनकी दिक्कतों को समाप्त करने का बड़ा काम किया है। इससे यूपी के किसानों को गेहूं खरीद में काफी राहत मिली है। जीवन और जीविका को बचाने के उद्देश्य से योगी सरकार ने कोरोना काल में मंडियो में कोविड प्रोटोकाल का पूरा पालन कराने के निर्देश दिये। जिसके बाद से खरीद केंद्रों पर ऑक्सीमीटर, इफ्रारेड थर्मामीटर की व्यवस्था भी की गई है।