‘विपक्षी कर रहे हैं अराजकता फैलाने का प्रयास’: योगी आदित्यनाथ

लखनऊ: कृषि कानूनों (Agriculture Bill) को लेकर किसानों (Farmers) ने आठ दिसंबर को भारत बंद (India off) बुलाया है. किसानों के बुलाए इस बंद को देश की तमाम विपक्षी दलों ने अपना समर्थन दिया है.  किसानों के आंदोलन पर हो रही राजनीति पर सोमवार को उत्तर प्रदेश (Uttar pradesh) के मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ (Yogi Aditynath) ने विपक्ष पर ज़ोरदार हमला बोला है. उन्होंने कहा, “ये किसानों के कंधों पर बंदूक रख अराजकता फ़ैलाने का प्रयास कर रहे हैं.”

मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित पत्रकार सम्मेलन में योगी ने कहा, “देश के कुछ राजनीतिक दलों के द्वारा वातावरण खराब करने का प्रयास किया जा रहा है. खासतौर पर APMC एक्ट पर राजनीतिक दलों का वर्तमान रवैया उनके दोहरे चरित्र को दर्शाता है.”

कांग्रेस सहित विपक्षी दल अपने वक्तव्यों से मुकरे 

मुख्यमंत्री ने कहा, “2010-11 के केंद्रीय कृषि मंत्री ने सभी राज्य सरकारों को APMC एक्ट में संशोधन के लिए पत्र लिखा था. कांग्रेस और उसे समर्थन करने वाले राजनीतिक दल आज अपने वक्तव्यों से कैसे मुकर सकते हैं. ये किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर के देश में अराजकता फैलाने का प्रयास कर रहे हैं.”

ज्ञात हो कि किसान संगठनों ने कृषि कानून को लेकर मंगलवार आठ दिसंबर को भारत बंद बुलाया है. इस बंद को देश की तमाम विपक्षी दलों ने अपना समर्थन दिया है. समर्थन देनेवाली पार्टीयों में कांग्रेस, शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस, अकाली दल, आप, डीएमके, सीपीआई, सीपीआई (एम), सीपीआई (एमएल), फॉरवर्ड ब्लाक, आरजेडी, जेएमएम शामिल है. 

भाजपा के सहयोगी दल भी शामिल 

आठ तारिक को होने वाले भारत बंद को विपक्षी दलों के साथ साथ भाजपा की सहयोगी दलों का भी समर्थन मिला है. सरकार में मंत्री रामदास अठावले की पार्टी रिपब्लिक पार्टी ऑफ़ इंडिया (अठावले), एनडीए में सहयोगी हनुमान बेनीवाल की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी ने बंद को अपना समर्थन दिया हुआ है.