train
File Photo

    भदोही. उत्तर प्रदेश में प्रेम-प्रसंग के एक मामले में नाबालिग किशोरी को कथित रूप से भगा कर ट्रेन से मुंबई जा रहे युवक ने लड़की के परिजनों द्वारा पकडे जाने पर चलती ट्रेन से छलांग लगा दी, जिससे इस घटना में उसकी मौत हो गई। पुलिस ने इसकी जानकारी दी।

    पुलिस ने शनिवार को बताया कि आज युवक का शव यहां पहुंचने पर उसके परिजनों ने चार घंटा तक शव को सड़क पर रख कर जाम लगा दिया। उन्होंने बताया कि इस मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिए जाने के बाद सड़क जाम ख़त्म करा दिया गया है।

    दुर्गागंज थाने के प्रभारी निरीक्षक राम जी यादव ने बताया की 20 जून को नाबालिग किशोरी के पिता ने यहां साहिल (20) नाम के युवक के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। उन्होंने बताया कि ये दोनों मुंबंई जाने की बात कह कर घर से निकले थे । उन्होंने बताया इसी बीच लड़की के घर वालों ने मुंबई में इसकी सूचना अपने परिजनों को भेजी जिस पर किशोरी के चाचा और भाई मुंबई पहुंचने से पहले ही उसी ट्रेन में सवार होकर दोनों को ढूंढ रहे थे तभी अचानक ट्रेन में लड़की के भाई और चाचा को देख साहिल बोरीवली स्टेशन के पास ट्रेन से कूद गया।

    थाना प्रभारी ने बताया की किशोरी ने बयान में कहा की घर वालों को देख साहिल ट्रेन से कूद गया था। उधर बोरीवली थाना पुलिस साहिल को अस्पताल ले गई जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कर उसे शनिवार को यहां भेज दिया। उन्होंने बताया कि शव के यहां पहुंचने के बाद साहिल के पिता खलील ने लड़की के पिता शब्बीर, उसके भाई और चाचा पर हत्या का आरोप लगा कर सैकड़ों की भीड़ के साथ रास्ता जाम कर दिया। यादव ने बताया मामला दर्ज कर जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। (एजेंसी)