आज का भविष्य,  रविवार, 11 अक्टूबर 2020

आज का भविष्य– रविवार 11 अक्टूबर 2020
आज जन्म लिये बालक का फल–
आज जन्म लिया बालक चंचल तथा मिलनसर होगा। नेतृत्व करे की अच्छी क्षमता होगी। किसी तरह की विशेष शिक्षा का ज्ञाता होगा। नौकरी और व्यवसाय दोनों में तरक्की करेगा। माता पिता के प्रति श्रद्धा रहेगी।
मेष– कार्यस्थल पर कुछ कठोर निर्णय लेना पड़ सकते हैं। महत्वपूर्ण मामलों में दुविधा से नुकसान होगा। श्रम एवं प्रयास करने से ही सफलता मिलेगी। पारिवारिक कार्यों में व्यस्तता रहेगी।
वृषभ– पुराने निवेश का लाभ मिलेगा। दूर की यात्रा उपयोगी रहेगी। जमकर जायजाद एवं कोर्ट कचहरी के कार्यों में अवरोध दूर होगा। पारिवारिक जीवन में सुख की प्राप्ति होगी।
मिथुन– कारोबारी विस्तार को लेकर कार्यस्थल पर खींचातानी रहेगी। लेखन एवं अध्ययन के कार्यों में रूचि रहेगी। संबंधित अधिकारियों का सहयोग बना रहेगा। स्वास्थ्य की चिंता रहेगी।
कर्क– बुजुर्गों के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। विरोधी परास्त होंगे। बाहर जाने का कार्यक्रम बनेगा। लेखन एवं अध्ययन, रचनात्मक कार्यों में यश एवं कीर्ति प्राप्त होगी।
सिंह– पुकुम्भ उलझनें सुलझाने में व्यस्त रहेंगे। पुराना अटका धन अनायास मिल सकता है। व्यवसाय व व्यापार की समस्याओं का समाधान होगा। गुप्त शत्रुओं के प्रयास विफल होगें।
कन्या– रूके कार्य निपटाने के लिये किसी सिफारिश की जरूरत पड़ सकती है। स्वास्थ्य संबंधी सावधानी रखें। व्यर्थ वाद विवाद से बचें। महत्वपूर्ण कार्यो में सतर्कता हितकर रहेगी।
तुला– यात्रा में समय और धन की बर्बादी होगी। वैभव विलासिता पर खर्च होगा। शुभ समाचार प्राप्त होगा। मनोवांछित सफलता मिलेगी। आगन्तुकों के आने से खर्च में वृद्धि होगी।
वृश्चिक– कार्यक्षेत्र में कुछ अच्छी प्रस्ताव मिल सकते हैं। राजनैतिक क्षेत्र में किया गया प्रयास सफल होगा। उच्चाधिकारियों का सहयोग रहेगा। अनावश्यक विवाद से बचें।
धनु– अति आत्मविश्वास में जोखिम भरा निर्णय ले सकते हैं। नये संपर्कों का लाभ मिलेगा। अधिक भरोसे में नुकसान हो सकता है। परिश्रम अधिक रहेगा। लाभप्रद अवसर मिलेंगें।
मकर– साझेदारी में मनमुटाव के चलते काम छोड़ने का मन बन सकता है। आकस्मिक खर्च होने से अन्य कार्यों में अवरोध हो सकता है। विवाद को टालें।
कुम्भ– बहुत दूर की अथवा विदेश की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। लंबित कार्यों में सफलता के योग हैं। मन में हर्ष बना रहेगा। प्रियजनों के कारण खर्च में वृद्धि होगी।
मीन– दूसरों के दुख दर्द में साथ देकर प्रसन्न होंगे। लेन-देन के मामले उलझ सकते हैं। नवीन कार्यों, आभूषण आदि की प्राप्ति होगी। जिससे मानसिक प्रसन्नता बनी रहेगी।
व्यापार-भविष्य–
द्वितीय आश्विन कृष्ण नवमीं को पुष्य नक्षत्र के प्रभाव से गुड, खांड, सरसों, अरंडी के भावों में मंदी होगी। जीरा, धनियां, लौंग, चांदी एवं सोना में स्थिरता रहेगी। लालमिर्च व लाल रंग की वस्तुओं का संग्रह होगा। भाग्यांक 2609 है।