आज का भविष्य,  मंगलवार, 15 सितंबर 2020

आज का भविष्य– मंगलवार 15 सितम्बर 2020
आज जन्म लिये बालक का फल–
आज जन्म लिया बालक स्वस्थ्य और गौरवर्ण होगा। दुबला पतला फुर्तीला, होगा। अपने मन की बात दूसरों पर जल्दी प्रकट नहीं करेगा। बु़िद्धमान और विवेकी होगा। माता पिता का भक्त होगा। इनके मित्रों की संख्या अधिक रहेगी। अपने मन की बात दूसरों को व्यक्त नहीं करेगा।
मेष– विरोधियों को मात देने में कामयाब रहेंगे। अटके काम पूरे होंगे। धर्म कर्म के प्रति आस्था रहेगी। नवीन योजनाओं का विकास होगा। परिश्रम अधिक होगा।
वृषभ– विवादास्पद मामलों में समझौता करना पड सकता है, रोगी की चिन्ता रहेगी। अतिथि रावणमन होगा। इष्ट मित्रों का सहयोग मिलेगा।
मिथुन– अधिकारी आपकी कार्यशैली से नाराज हो सकते है। मित्रों की नाराजगी दुखी कर सकती है। अधिनस्थ वर्ग से सहयोग मिलेगा। बेरोजगारोंं को प्रयास करने पर सफलता मिलेगी।
कर्क– अधिकारों के लिये संघर्ष करना पड़ सकता है। अविवाहित वैवाहिक कार्य को लेकर उत्साहित रहेंगे। आर्थिक कार्यो की पूर्ति होगी।धार्मिक कार्य बनने का योग है।
सिंह– नये संपक्र संपक्र बीती बातको भूलकर काम में जुट जायें, सफल रहेंगे। अधिक वाक पटुता से काम बिगड़सकता है। पुराने मित्रों का सहयोग रहेगा।
कन्या– आपके विचारों से अधिकारी प्रभावित होंगे। प्रतियोगी परीक्षा में सफलता के आसार है। अचानक लाभ। यात्रा में सावधानी रखें। पूज्यव्यक्ति की सलाह उपयोगी रहेगी।
तुला– मनचाहा काम मिलने से उत्साह रहेगा। राजकीय कार्य बनाने के आसार हैं। इच्छित कार्य में सफलता मिलेगी। किसी अनसोचे कार्यमें व्यस्तता रहेगी।
वृश्चिक– आपको अपने फैसले से पछताना पड़ सकता है। नये कार्य रावणे बढ़ाने में परेशानी होगी। नौकरी में अधिनस्थ वर्ग के असहयोग से काम बिगड़ सकता है।
धनु– नये संपर्क आपकी तरक्की में सहायक रहेंगे। साथी के स्वास्थ्य की चिन्ता रहेगी। मानसिक अस्थिरता रहेगी। व्यापार में प्रगति होगी। निजी दायित्वों की पूर्ति होगी।
मकर– जिम्मेदारी नहीं निभाने से परेशानी हो सकती है। विरोधी आरोप लगाने का प्रयास करेंगे। संतान पक्ष की चिन्ता रहेगी। अनुकूल परिस्थितियों का लाभ मिलेगा।
कुम्भ– झूठ बोलकर काम कराने का प्रयास हानिकारक हो सकता है। व्यवसायिक क्षेत्र में सफलता मिलेगी। महत्वपूर्ण कार्य बनेंगे। कम परिश्रम से अच्छी सफलता मिलेगी।
मीन– भाग्योदय के अवसर मिलेंगे। कार्य क्षमता के बल पर अपनी पहिचान बना लेंगे। शत्रु वर्ग परास्त होगा। माता पिता का भक्त सहयोग मिलेगा। मान सम्मान मिलेगा।
व्यापार-भविष्य–
प्रथम आश्विन कृष्ण त्रयोदशी को अश्लेषा नक्षत्र के प्रभाव से सोना, चांदी, तांबा, पीतल, लोहा, निकल, आदि वस्तुओं में नरमी की चाल चलेगी। सरसों, अरंडी, अलसी, मॅूग, मोठ, के भाव में तेजी होगी। जीरा, धनियां, लालमिर्च पूर्ववत रहेंगे। भाग्यांक 1487 है।