Loading

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने 11 सितंबर 2008 को एक घोषणा करते हुए कहा था कि, मंत्रालय ने भारत में शिक्षा के क्षेत्र में अबुल कलाम आजाद के योगदान को याद करते हुए भारत के इस महान सपूत के जन्मदिन को मनाने का फैसला किया है। तब से इस उत्सव को हर साल 11 नवंबर को राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसे अवकाश के रूप में भी घोषित किया गया है। प्रथम राष्ट्रीय शिक्षा दिवस समारोह का उद्घाटन भारत की तत्कालीन राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने 11 नवंबर, 2008 को विज्ञान भवन, नई दिल्ली में किया था। इस दिन को स्वतंत्र भारत में शिक्षा प्रणाली की नींव रखने और क्षेत्र में देश के वर्तमान प्रदर्शन का मूल्यांकन और सुधार करने में अबुल कलाम आजाद के इस योगदान को याद करने के रूप में मनाया जाता है।