Chennai Humanity is ashamed: Two Mahavatas are seen beating the female elephant mercilessly

    चेन्नई: पशु क्रूरता का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है जहां दो महावतों को एक हाथी की पिटाई करते देखा गया। कैमरे में कैद यह घटना तमिलनाडु (Tamil Nadu) के थेक्कमपट्टी (Thekkampatti) में कायाकल्प शिविर (Rejuvenation Camp) की हैं। वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। बताया जा रहा है की जब मादा हाथी ने महावतों के आदेशों का जवाब देने से इनकार कर दिया तो उसे मारने लगे।

    एक आगंतुक द्वारा रिकॉर्ड किए गए वीडियो में, हाथी के रोने की आवाज़ सुनी जा सकती थी, जब दो लोगों ने हाथी के पैरों पर निर्दयता से मारा था। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, अंडाल मंदिर, श्रीविल्लीपुथुर के जयमिलाथा नाम की 19 वर्षीय मादा हाथी को कायाकल्प शिविर में ले जाया गया था, जब उसने आज्ञा मानना बंद किया तो विनिल कुमार और उसके सहायक शिवप्रसाद ने हाथी को एक पेड़ से बांध दिया और 20 सेकंड तक उसे मारते रहे। 

    वीडियो वायरल होने के बाद, अभियुक्तों को सेवा से निलंबित कर दिया गया और उन्हें वन्यजीव संरक्षण अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत गिरफ्तार कर लिया गया।

    हर साल, कोयंबटूर में मंदिर के हाथियों के लिए 48-दिवसीय कायाकल्प शिविर आयोजित किया जाता है। इस साल, 28 हाथियों को शिविर में ले जाया गया।

    पिछले साल मई में, एक गर्भवती हाथी की मौत ने मानवता पर सवाल खड़े कर दिए और पूरे देश को झकझोर दिया। जब एक पटाखा कथित रूप से केरल के पलक्कड़ में एक हाथी को खिलाया गया था, जिसके बाद, उसकी मौत हो गई थी।