Picture Credit: Twitter
Picture Credit: Twitter

    कोरोना वायरस (Corona Virus) की दूसरी लहर तबाही मचा रही है। तीसरी लहर की भी शुरुआत हो गई है। ऐसे में सोशल मीडिया (Social Media) पर कुछ दिनों पहले मनाली (Manali) में लोगों की भीड़ की तस्वीरें तेजी से वायरल हो रही थी। जहां लोग कोरोना के नियमों का उल्लंघन करते हुए नजर आ रहे थे। या तस्वीर के वायरल होने के बाद लोगों का कहना था कि ये लोगों की लापरवाही से कोरोना की तीसरी लहर जल्द ही तबाही मचाएगी। तस्वीर पर लोग अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दर्ज करा रहे थे। सोशल मीडिया पर यह हिमाचल के मनाली में बड़ी संख्या में पर्यटक (Tourist) आये थे। यह किया गया दावा झूठा है।

    बता दें कि वायरल हो रही मनाली की तस्वीरें 6 महीने पुरानी है। फैक्ट चेक वेबसाइट BOOM Live के अनुसार, यह तस्वीर 31 दिसंबर, 2020 यानी देश में COVID-19 की दूसरी लहर आने से पहले ली गई थी।  तस्वीर को वर्तमान में इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि तीसरी लहर की आशंका के बीच मनाली में बड़ी संख्या में पर्यटकों की भीड़ उमड़ी है। इस तस्वीर को पोस्ट को फेसबुक पर हिमाचल के कुछ लोगों ने 23 जनवरी में शेयर किया था।

    अपने हाल के पोस्ट में, “Amigosblink” ने स्पष्ट किया कि यह तस्वीर 31 दिसंबर, 2020 को भारत में दूसरी लहर के कहर के महीनों पहले ली गई थी. उन्होंने लिखा, “सोशल मीडिया पर अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रही यह तस्वीर हमारे द्वारा 31 दिसंबर, 2020 को क्लिक की गई है। यह पुरानी तस्वीर है।

     

    अब हिमाचल प्रदेश सरकार ने  COVID-19 दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने वाले पर्यटकों की तस्वीरें सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सामने आने के बाद, मनाली प्रशासन ने मामले को गंभीरता से लिया और बिना मास्क के पाए जाने वाले पर्यटकों के लिए 5,000 रुपये या 8 दिन की जेल का जुर्माना लगाने का फैसला किया।