Picture Credit: Twitter
Picture Credit: Twitter

    हर दिन साइबर क्राइम (Cyber Crime) बढ़ता ही जा रहा है। मीडिया पर भ्रामक खबरों की भरमार लग गई है। अब एक और मैसेज सोशल मीडिया (Social Media) पर तेजी से वायरल (Viral) हो रहा है। जिसमें दावा किया जा रहा है कि व्हाट्सएप कॉल (WhatsAap Call) और फोन की गतिविधियों पर सरकार नजर रखेगी। यह देश में नया WhatsApp और WhatsApp कॉल्स के लिए नए संचार नियम लागू हो रहे हैं। यह कॉल की रिकॉर्डिंग (Recording)  को संभाल कर रखा जायेगा। WhatsApp, फेसबुक, ट्विटर (Whatsaap, Fackebook, Twitter) और सभी सोशल मीडिया पर नजर रखी जाएगी। मैसेज में और लिखा है कि प्रधानमंत्री या सरकार को लेकर, राजनीतिक या धार्मिक मुडी ऐसी कोई बात या संदेश लिखना अपराध माना जायेगा और इसके लिए बिना वारंट के गिरफ्तारी (Arrest) की जा सकती है।

    मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस मैसेज किसी को शेयर न करे। यह साइबर क्राइम है इस पर कार्यवाही की जाएगी। यह मैसेज लोगों के बीच में भ्रम पैदा कर रहा है। इस वायरल हो रहे दावे को लेकर पीआईबी फैक्ट चेक ने बताया कि यह दावा फर्जी है।   PIB ने अपने फैक्ट चेक में इस दावे को पूरी तरह फर्जी और निराधार बताते हुए कहा, केंद्र सरकार ने WhatsApp व फोन कॉल के संबंध में नए संचार नियम लागू करने की ऐसी कोई घोषणा नहीं की है।

    सोशल मीडिया पर इस तरह के वायरल हो रहे मैसेज पर भरोसा न करे यह मैसेज लोगों को बीएस भ्रामक कर रहे है। इसे बचे और कोई भी मैसेज को शेयर करने के पहले जांच-पड़ताल कर ले। आप ऐसे कोई भी भ्रम पैदा करने वाले मैसेज से सावधान रहे और खुद भी ऐसे मैसेज को किसी को फॉरवर्ड न करे।