maharashtra-60000-customers-face-power-outage-in-parts-of-pimpri-chinchwad-due-to-cat
File Photo

    नई दिल्ली: अक्सर हम अपने पालतू जानवरों पर हजारों पैसा खर्च करते है लेकिन क्या आपने कभी सुना है कि किसीको उनके पालतू बिल्ली ने लाखों रुपये दिलाए है? जी नहीं न? लेकिन आपको बता दें कि ऐसी ही एक चौंकाने वाली घटना अमेरिका से सामने आई है। जी हां आइए जानते है क्या है पूरा मामला… 

    अमेरिका का चौंकाने वाला मामला 

    दरअसल यहां अन्ना डेनिएली की पालतू बिल्ली मिस्का पर उसके सोसाइटी के लोगों ने आरोप लगाया था कि वह इधर-उधर घूमती रहती है और कई बार जानवरों को भी मार देती है। उस महिला पर 25,000 पाउंड का जुर्माना लगाया गया था। पशु नियंत्रण अधिकारियों ने बिल्ली को लेकर कई शिकायतों के बाद 2019 में अन्ना की देखभाल के लिए अपने साथ ले गए।

    3 साल तक चली कोर्ट में केस 

    आपको बता दें कि बिल्ली पर किए गए केस के तीन साल बाद, हाल ही में एक अदालत ने फैसला सुनाया कि बिल्ली कभी भी आसपास घूमते हुए नहीं देखी गई और न ही उसने किसी जानवर को परेशान किया है। इस मामले में अदालत ने फैसला सुनाया कि मिस्का हमेशा से ही निर्दोष थी। जांच से पता चला कि मिस्का के बारे में शिकायत करने वाले पशु नियंत्रण अधिकारी अन्ना के पड़ोस में ही रहते थे। किंग काउंटी और बेलेव्यू शहर की अदालत ने अन्ना और उसके पालतू जानवर के पक्ष में फैसला सुनाया। इसके अलावा महिला को मुआवजे के तौर पर 95 लाख रुपए मिले हैं।इस तरह मात्र एक बिल्ली की वजह से महिला को लाखों रुपये मिले। 

    कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला

    दरअसल इस बारे में अन्ना के वकील जॉन जिम्मरमैन ने बताया कि, ‘यह मामला बेलेव्यू में एक घरेलू बिल्ली का था। आसपास के लोगों ने बिल्ली के ऊपर झूठा आरोप लगाया था। यह वास्तव में वाशिंगटन में एक बिल्ली को लेकर अपने आप में ऐतिहासिक समझौता था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अन्ना की मिस्का के लिए कोर्ट की लड़ाई तीन साल तक चली थी। तीन साल के बाद बिल्ली को निर्दोष बताया गया, और बदले में बिल्ली की मालकिन को 95 लाख रुपये मिले