zimbawe
Pic: Global Partnership for Education

    नई दिल्ली. जिम्बाब्वे (Zimbabwe) से आ रही एक बड़ी खबर के अनुसार यहां कोरोना महामारी (Corona) के बीच कम उम्र की लड़कियां अब तेजी से प्रेग्‍नेंट हो रही हैं। जिसकी बड़ी वजह है यह है कि इस देश में कानूनी रूप से शादी के लिए कोई उम्र तय नहीं है। जिसके चलते यहां यौन संबंध आम बात है।वहीं कोरोना के चलते यहां लंबे समय से स्‍कूल बंद हैं तो ये समस्‍या और भी गहरी हो गई है। 

    क्या कहता है नया कानून

    दरअसल यहां की परम्परा के अनुसार, जिम्बाब्वे में शादी के लिए दरअसल दो कानून हैं। एक है विवाह एक्‍ट और दूसरा है ट्रेडिशनल मैरिज एक्‍ट लेकिन इनमे कोई भी कानून विवाह की सहमति के लिए ये नहीं बताता कि शादी करने के लिए  न्यूनतम आयु क्‍या होनी चाहिए। वहीं, ट्रेडिशनल मैरिज एक्‍ट बहुविवाह की अनुमति भी देता है। जिसके चलते ये समस्‍या कोरोना काल में थोड़ी और गहरी हो गई है। 

    लडकियां क्यों तेजी से हो रहीं  प्रेग्‍नेंट 

    गौरतलब है कि, डेढ़ करोड़ की आबादी वाले इस देश में मार्च 2020 से ही लॉकडाउन लगा है। जहाँ पहले 6 महीने के लिए स्कूलों को पूरी तरह बंद कर दिया था  और उसके बाद बीच-बीच में उन्हें फिर से खोल दिया गया था। विशेष रूप से लड़कियों को ऐसे ही छोड़ दिया गया और गर्भ निरोधक दवाएं और क्लीनिकों तक इनकी पहुंच खत्‍म कर दी गई थी। जिससे यहां लडकियां तेजी से प्रेग्‍नेंट होने लगीं। 

    अब नया कानून 

    इन सबके चलते अब एक नया विवाह विधेयक जो बहस के लिए संसद के समक्ष है। वह दरअसल कानूनों को सही तरीके से पहले बनाने, वहीं 18 वर्ष से कम उम्र के किसी भी व्यक्ति के विवाह पर प्रतिबंध लगाने और नाबालिग की शादी में शामिल किसी के खिलाफ मुकदमा चलाने की भी अनुमति देता है।