Eco-Friendly Ganesh Idol
Eco-Friendly Ganesh Idol

    गणेश चतुर्थी की रौनक देश भर में देखने को मिल रही है। लोगों में बप्पा के आगमन को लेकर अलग ही उत्साह और जोश है। हर साल गणेश चतुर्थी  पर इको-फ्रेंडली गणेश भगवान की मूर्ति चर्चा में रहती है। इस साल ऐसे ही एक अनोखी इको-फ्रेंडली गणेश जी की मूर्ति चर्चा में है। यह गणेश जी की मूर्ति महाराष्ट्र के वाशिम जिले के कुछ किसानों ने मिलकर बनाई है।

    यह इको-फ्रेंडली सोयाबीन के दानों से बनाई गई है। इसमें थर्माकोल का इस्तेमाल नहीं किया गया है। यह मूर्ति लोगों के लिए चर्चा में बनी हुई है। यह गणेश जी की मूर्ति पर्यावरण के लिए भी बेहद अनुकूल है। यह गणेश जी की मूर्ति 7 किलो सोयाबीन से बनी है।

    बता दें कि एक मूर्ति को बनाने के लिए सोयाबीन के दाने का इस्तेमाल किया गया है।इस मूर्ति को बनाने के लिए सात किसानों ने एक-एक किलो सोयाबीन इकठ्ठा किया और  16 दिन में गणेश जी की मूर्ति को तैयार किया।

    मूर्ति बनाने का खर्च

    गणेश जी की सोयाबीन की इको-फ्रेंडली मूर्ति को बनाने के लिए करीब 900 रुपए का खर्च आया है। मूर्ति को बनाने में 400 रूपये किलो सोयाबीन और सौ रुपए का फेविकोल इस्तेमाल किया गया है, कुल मिलाकर इस मूर्ति को बनाने में नौ सो रुपए खर्च हुए हैं। मूर्ति का वजन लगभग 35 किलो बताया जा रहा है। इसे वासिम के एक गांव में स्थापित किया गया है। यह गणेश जी की मूर्ति लोगों के चर्चा का विषय बनी हुई है।