अजीबोगरीब : जन्म से अब तक नहीं रोया बच्चा, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

    नई दिल्ली : हम सब जानते है और मेडिकल साइंस भी यही कहता है की जन्म के तुरंत बाद बच्चे का रोना मतलब वह बच्चा स्वस्थ है ऐसा माना जाता है। लेकिन जिस बच्चे (Child) की बात हम आज कर रहे है उसके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे। नवजात शिशुओं से जुडी कई ऐसी घटनाएं होती है जो हमे सोचने पर मजबूर कर देती है, कि क्या वाकई में ऐसा हो सकता है ? जी हां ऐसा होता है एक बच्चा ऐसा भी है जो जन्म से लेकर अब तक एक भी बार रोया नहीं है। आईये जानते है पूरा मामला…. ‘

    जिस घटना की हम बात कर रहे है वह कनाडा (Canada) की है। यह घटना बिलकुल अनोखी है। बच्चे की मां ने जन्म से लेकर अब तक अपने बच्चे की रोने की आवाज नहीं सुनी है। दरअसल इस बच्चे को एक दुर्लभ बीमारी है, जिसे लेकर डॉक्टर्स भी बेहद हैरान है। इस नाजुक दौर में बच्चे की मां भी बच्चे के इलाज को लेकर बेहद परेशान है। 

    आपको बता दें कि कनाडा में रहने वाली लुसिंडा एंड्रूज़ (Lucinda Andrews)  इस महिला का बच्चा (Child) रो ही नहीं सकता। जब से उन्होंने अपने बेटे को जन्म दिया है तब से आज-तक उन्होंने अपने बेटे की आवाज नहीं सुनी है। आपको बता दें कि इस दुर्लभ बीमारी को मेडिकल साइंटिस्ट भी नहीं समझ पा रहे है।  इस वजह से बच्चे की मां इस बीमारी को लेकर बेहद चिंतित है। बच्चा मां की जान होता है, ऐसे में इतना प्यारा बच्चा अब तक नहीं रोया, मां ने अब तक उसकी आवाज नहीं सुनी, यह बात उस मां के लिए बेचैन करने वाली बात है। 

    डेलीमेल रिपोर्ट मुताबिक, कनाडा के चाथम केंट में रहने वाली लुसिंडा एंड्रयूज का बच्चा रो नहीं सकता। उनके मुताबिक, जन्म से लेकर अब तक उन्होंने अपने बेटे की रोने की आवाज नहीं सुनी है। दुःख की बात ये है की इस दुर्लभ बिमारी की जड़ें वैज्ञानिकों के भी पकड़ में नहीं आ रही है। इस वजह से परेशान मां डॉक्टरों से गुहार लगा रही है कि इस दुर्लभ बीमारी पर कोई शोध करें, ताकि उनका बेटा इस अजीबोगरीब बीमारी से मुक्त हो और आम बच्चों की तरह जिए। आपको बटन दे कि 32 वर्षीय लुसिंडा ने 5 मार्च को बत्ती को जन्म दिया था। 

    आपको बता दें की लुसिंडा को गर्भावस्था के दौरान किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं है। लेकिन जब बच्चे का जन्म हुआ तो डॉक्टर्स ने देखा की बच्चे के हाथ-पैर हिल नहीं रहे। इसके अलावा बच्चा अपना सिर भी नहीं हिला पा रहा था। जब बच्चे का चेक हुआ तो यह बात पता चली की बच्चे को जेनेटिक प्रॉब्लम है। 

    इस वजह से बच्चे के शरीर में प्रोटीन लिवर पर असर हुआ है। इस बच्चे को सांस लेने में भी बेहद दिक्कत होती है।रिपोर्ट के मुताबिक़, नवजात बच्चे में टीबीसीडी जिन को प्रभावित करने वाली यह एक बेहद दुर्लभ बिमारी है। आपको बता दें कि बहुत काम बच्चों में ऐसा देखा गया है।