kiril

    मॉस्को. यूँ तो सभी ने खुबसूरत और अच्छा दिखना पसंद है। हालंकि आज भी युवाओं में बॉडी बिल्डिंग (Body Building) का क्रेज बहुत है। लेकिन बॉडी बनाने की चाह में कभी-कभी कुछ लोग ऐसा भी कर जाते हैं कि, बाद में यही पागलपन उनकी जान पर बन आता है। ऐसा ही कुछ रूस में रहने वाले इस शख्स के साथ हुआ।

    दरअसल इस पूर्व सैनिक और बॉडी बिल्डर को डॉक्टरों ने भी अब चेतावनी दी है कि अपनी इस सनक के चलते उसकी शायद मौत भी हो सकती है। बता दें की रूस के किरिल टेरेशिन (Kirill Tereshin) नामक इस पूर्व सैनिक ने पेट्रोल जेली (Petroleum Jelly) के इंजेक्शन लगवा लिए थे, ताकि जल्द से जल्द उसके बाइसेप्स बन जाएं। हालांकि, उसका यह दांव अब उल्टा पड़ गया है। 

    लगवाए कई इंजेक्शन

    दरअसल ‘डेली मेल’ की एक खबर के मुताबिक, 25 वर्षीय किरिल टेरेशिन (Kirill Tereshin) को बॉडी (Body) बनाने का बहुत ज्यादा शौक है। वह इसके नए-नए तरीके भी खोजता रहता है। एक दिन उसने अपने हाथों में पेट्रोल जेली के इंजेक्शन लगवा लिए। कुछ समय बाद उसने ऐसे कई और इंजेक्शन लगवा लिए, ताकि जल्द से जल्द उसके बाइसेप्स (Biceps) बन जाएं। पहले तो इसका असर दिखाई दिया, लेकिन कुछ समय बाद इसके साइड इफेक्ट भी सामने आने लगे।

    Courtsey: Daily Mail

    24 इंच के हुए बाइसेप्स

    हालाँकि पेट्रोलियम जेली के इन इंजेक्शन से किरिल के बाइसेप्स 24 इंच के जरुर हो गए। लेकिन फिर उसके उसके हाथों की हालात खराब होने लगी। इतना ही नहीं, धीरे-धीरे इस जेली के चलते उसके हाथों में गांठें भी पड़ गईं हैं। जिसके बाद उसे युरांत अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। उसका इलाज कर रहे डॉक्टरों की एक टीम ने बताया कि जब तक उसके शरीर से पेट्रोलियम जेली की गांठें निकाली नहीं जाएंगी, तब तक उसकी हालत में कोई सुधार नहीं होगा। डॉक्टरों का कहना है कि यही गांठ उसकी मौत का भी कारण बन सकती हैं।

    जल्द होगी सर्जरी   

    हनाकी रिपोर्ट के अनुसार डॉक्टरों ने किरिल टेरेशिन के सर्जरी का भी फैसला लिया है। इसके पहले एक सर्जरी के जरिए किरिल के हाथों से सिंथोल ऑयल और डेड मसल्स टिशूज निकाले गए। हालांकि, एक सर्जरी करके उसकी नकली ट्राइसेप्स निकाली जा चुकी है, लेकिन पूरी तरह ठीक होने के लिए उसे अब एक और ऑपरेशन से गुजरना होगा। इसपर उसके सर्जन दिमित्री मेलनिकोव ने स्पष्ट रूप से चेतावनी दी है कि इस मामले में जटिलताओं का खतरा बहुत अधिक है। यदि ये गांठे नहीं निकाली गईं तो उसकी मौत भी हो सकती है।

    किरिल को हुआ अपनी गलती का अहसास

    इसके बाद दिमित्री मेलनिकोव ने बताया कि ऑपरेशन के जरिए कठोर हो चुकी पेट्रोलियम जेली को हटाया जाएगा। ये बेहद ही मुश्किल काम है और हम उम्मीद करते हैं कि सबकुछ ठीक हो। वहीं, इंजेक्शन से बॉडी बनाने की सनक पर अब किरिल टेरेशिन ने अपना अफसोस बताया है। उसने कहा, “मुझे नहीं पता था कि इसके इतने भयानक परिणाम होंगे। मैं मानता हूं कि मुझसे गलती हुई, अब मैं बस यही दुआ कर रहा हूं कि सर्जरी कामयाब हो जाए और में फिर से ठीक हो जाऊं।”