ये है ‘दुनिया का सबसे छोटा Premature Baby’, जीवित रहकर रचा इतिहास, बन गया रिकॉर्ड

    नई दिल्ली: कुछ करिश्मे ऐसे होते है जो वाकई में बहुत लाजवाब होते है। जो हमारे जीवन में एक चमत्कार करते है। आम तोर पर दुनिया में ऐसे बहुत बच्चे है जो समय से पहले पैदा होता जाते है। लेकिन पूरी तरह विकसित नहीं होने के कारण ज्यादातर बच्चों की मृत्यु हो जाती है। लेकिन अमेरिका के एक बच्चे की कहानी सुनकर आप भी कहेंगे अद्भुत! ये तो चमत्कार हो गया। जी हां आइए जानते है पूरी खबर क्या है… 

    दुनिया का सबसे premature बच्चा 

    अमेरिकी से एक अद्भुत खबर आयी है जिसे सब लोग चमत्कार से कम नहीं समझ रहे है। जी हां दरअसल अमेरिका में एक लड़का मात्र 21 सप्ताह और एक दिन में पैदा हुआ था, उसे जीवित रहने के लिए दुनिया का सबसे premature बच्चे (world’s most premature baby to survive) के रूप में प्रमाणित किया गया है। 

    420 ग्राम का बच्चा 

    पिछले साल जब उसका जन्म अलबामा में हुआ था, तो कर्टिस मीन्स नाम के इस बच्चे (Curtis Means) का वजन महज 420 ग्राम था। गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स (Guinness World Records) ने बुधवार को पुष्टि की कि कर्टिस, जो अब एक स्वस्थ है और 16 महीने का है, उसने जीवित रहने की सभी बाधाओं को हराते हुए एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाया है। और जिन्दा रहने के इस संघर्ष को इस नन्हे बच्चे ने पार किया है। 

    5 वें महीने में हुआ जन्म 

    आपको बता दें कि जब इस बच्चे का जन्म हुआ उस समय उसका का वजन आधा किलोग्राम से भी कम था। हालांकि डॉक्टरों की देखरेख में बच्चा जीवित बच गया और अब स्वस्थ है। बता दें कि ब्रिटेन के बर्मिंघम में अलाबामा में एक साल पहले कर्टिस मीन्स का जन्म हुआ था। आमतौर पर बच्चे का जन्म 9वें या 10वें महीने में होता है लेकिन कर्टिस मीन्स का जन्म सिर्फ पांचवें महीने (21 सप्ताह) में ही हो गया था। इस तरह कर्टिस का जन्म सामान्य बच्चों से करीब 19 सप्ताह पहले ही हो गया। इसके बाद उसके लिए कई चुनौतियां सामने थी लेकिन आज बच्चा स्वस्थ है और खुश है।

    जुड़वा बच्चों में से बचा कर्टिस

    बता दें कि मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कर्टिस की मां मिशेल बटलर ने जुड़वां बच्चों को जन्म दिया था लेकिन उनमें से सिर्फ कर्टिस की ही जान बच सकी। जुलाई 2020 में जब उन्हें प्रसव पीड़ा महसूस होने पर अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसके अगले दिन ही मिशेल ने प्रीमेच्योर ट्विंस कर्टिस और सी’अस्या को जन्म दिया। लेकिन, जन्म के एक दिन बाद ही सी’अस्या की मौत हो गई।

     

     
     
     
     
     
    View this post on Instagram
     
     
     
     
     
     
     
     
     
     
     

    A post shared by Guinness World Records (@guinnessworldrecords)

     

    275 दिनों तक चला संघर्ष

    यह घटना किसी चमत्कार से कम नहीं है। आपको बता दें कि इतने कम समय में पैदा होने वाले बच्चों के बचने का चांस एक फीसदी से भी कम होता है और कर्टिस उन्हीं खुशकिस्मत बच्चों में था। लेकिन कर्टिस के लिए यह सब आसान नहीं था। कर्टिस को कई दिनों तक आईसीयू में रहना पड़ा। करीब 3 महीने बाद कर्टिस को वेंटिलेटर से हटाया गया और अस्पताल में 275 दिन बिताने के बाद उसे छुट्टी दे दी गई। हालांकि मुश्किलें अभी खत्म नहीं हुई थीं।

    सप्लिमेंटल ऑक्सीजन और फीडिंग ट्यूब

    अभी भी बच्चा दुनिया में सरवाइव करने के लिए मुश्किलों से लड़ रहा है। कर्टिस ना ही मुंह से सांस ले सकता था और ना ही खाना खा सकता था। डॉक्टरों ने उसे ये दोनों चीजें करना सिखाया। कर्टिस अब 1 साल से अधिक का हो चुका है लेकिन आज भी उसे सप्लिमेंटल ऑक्सीजन और एक फीडिंग ट्यूब की जरूरत पड़ती है। इस तरह यह दुनिया का सबसे Premature Baby है।