Picture Credit: Twitter
Picture Credit: Twitter

    भारत में कई गांव नदी या नालों के छोर पर बसे हुए है। जिसके लिए उन्हें एक जगह से दूसरे जगह पर जाने के लिए पुल का सहारा लेना पड़ता है। कई गांवों में पूल न होने के वजह से लोगों को नदी या नाला लांघ कर या तैरकर पार करना पड़ता है। उनके लिए ऐसे जीना बड़ी मज़बूरी है। कई बार सरकार (Government) से पूल बनवाने के  कहने पर भी कोई कार्य नहीं होता है। ऐसे में गांव वालों को मज़बूरी में ऐसे ही जीना पड़ता है। लेकिन इन दिनों सोशल मीडिया पर ओडिशा (Odisha) के गांव वालों की लोग खूब तारीफ कर रहे हैं।

    ओडिशा में  सिस्टम की मार झेल रहे ग्रामीणों ने खुद ही नाले के ऊपर लकड़ी का ब्रिज बना लिया। जिसके बाद सीएम नवीन पटनायक (CM Naveen Patnaik) के प्रधान सचिव ने कहा कि सरकार जल्‍द यहां पुल बनाएगी। सोशल मीडिया पर ये वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो को ट्विटर पर न्यूज एजेंसी एएनआई ने शेयर किया है। वीडियो में देखा जा सकता है कि कुछ गांव वाले पुल बनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं।

    बलांगीर जिले के टिटिलागढ़ प्रखंड के कुतुराकेंड के ग्रामीण प्रशासन की नाकामी का दावा करते हुए लकड़ी का पुल बना रहे हैं। एक स्थानीय ने कहा, “बारिश के दौरान आना-जाना मुश्किल होता है। हर साल सरकार इसे बनाने का वादा करती है, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।” इसलिए गांव वालों ने  प्रशासन के भरोसे बैठने की बजाय अब खुद ही पुल बनाने का काम शुरू कर दिया है।

    वीडियो में नजर आ रहा है कि कुछ लोग मिलकर लकड़ी का पूल बना रहे है। यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से छाया हुआ है। यह वीडियो लोगों के लिए चर्चा का विषय है पर सरकार की विफलता का सबूत। इस वीडियो को देखकर यूजर्स गांववालों की खूब तारीफ कर रहे हैं।