Electricity Bill

  • 18 गांवों के किसान हुए बकायामुक्त
  • 33 फीसदी राशि ग्रापं पर होगी खर्च

वर्धा. महावितरण के महा कृषि ऊर्जा अभियान को जिले के किसानों का अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है. महावितरण द्वारा गिरोली में लिये गए सम्मेलन में करीब 18 गांवों के 156 किसानों ने उनकी ओर बकाया 16 लाख रुपए का बिल अदा कर बिजली बिलों से मुक्ति पायी. महावितरण के गिरोली बिजली उपकेंद्र में आयोजित समारोह में महावितरण के नागपुर परिक्षेत्र के प्रभारी प्रादेशिक संचालक सुहास रंगारी, नागपुर परिमंडल के मुख्य अभियंता दिलीप दोडके, वर्धा मंडल कार्याल्य के अधीक्षक अभियंता डा. सुरेश वानखेडे, कार्यकारी अभियंता स्वप्निल गोतमारे, गिरोली के उपसरपंच संतोष तोतरे, पंचायत समिति सदस्य गव्हाले, ग्राहक प्रतिनिधि किशोर रुठे आदि की उपस्थिति थी. महावितरण के नागपुर परिक्षेत्र के प्रभारी प्रादेशिक संचालक सुहास रंगारी ने उपस्थित किसान को संबोधित किया. महावितरण द्वारा शुरू इस मुहिम का किसानों से लाभ उठाने का आह्वान किया. बकाया अदा करने पर गांव का विकास संभव है.

कुछ निधि से गांव व जिले का होगा विकास

बकाया राशी से प्राप्त निधि में 33 फीसदी राशि ग्रापं स्तर पर खर्च की जाएगी़ जबकि 33 फसदी राशी जिलास्तर पर उपयोग में लायी जाएंगी. स्थानीय स्तर पर बिजली उपकरणो का मजबूतीकरण करना संभव होगा, ऐसा भी उन्होंने कहा.  महावितरण नागपुर परिक्षेत्र के प्रभारी प्रादेशिक संचालक सुहास रंगारी के आह्वान को प्रतिसाद देते हुए सेलू, पवनार, घोराड, रेहकी, धडशी, सिंदी (रेलवे), हिंगणी, अकोला, गिरोली, अंजी, महाकाल, जामणी, मासाला, चिमोडी, इंझापुर, मदनी, खरांगणा, सालोड, जामगा के करीब 156 किसानों ने अपनी बकाया अदा की. 

24 एकड़ पर सौर प्रकल्प का प्रस्ताव

महावितरण के गिरोली बिजली उपकेंद्र परिसर में ग्रापं द्वारा 24 एकड जगह पर सौर प्रकल्प निर्माण के लिए जगह देने का प्रस्ताव महावितरण को सौंपा गया. प्रकल्प बनाने के लिए आवश्यक अनुमति मिलने पर काम शुरू करने की जानकारी महावितरण ने दी.