वन्यजीवों की शिकार का मामले में गिरोह के 3 सदस्य गिरफ्तार

    हिंगनघाट. तहसील के पोहणा नियतक्षेत्र में घुसपैठ कर वन्यजीवों की शिकार करने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को वन विभाग ने गिरफ्तार कर लिया. उनके पास से 9 खरगोश, 1 तीतर, 1 लावा आदि वन्यजीव सहित शिकार के लिए इस्तेमाल की जानेवाली सामग्री जब्त की गई.

    यवतमाल जिले का शिकारी गिरोह गत पांच दिनों से पोहणा नियतक्षेत्र में आकर वन्यजीव खरगोश, लावा, तीतर, कालविट, गोह की शिकार करने की जानकारी पोहणा के वनरक्षक मनेशकुमार सज्जन को मिली. इस आधार पर योजना बनाकर खेकड़ी परिसर में नाकाबंदी की गई. उक्त समय तेज गति दुपहिया से आये तीन लोगों को रोककर तलाशी ली गई.

    उनके पास 9 खरगोश, 1 तीतर, 1 लावा तथा शिकार के लिए इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री पायी गई. पूछताछ करने पर यह वन्यजीव यवतमाल जिले के मांढली से पकड़ने की बात उन्होंने कबूल की. आरोपियों में यवतमाल जिले के रालेगांव तहसील के गोपालनगर निवासी अजय महेबूब काले (27), नीलकंठ पंजाब पवार (28) व अनिल गुलाब पवार, उंबरविहिर निवासी का समावेश है. 

    खरगोश, तीतर, लावा सहित अन्य सामग्री जब्त 

    आरोपियों के खिलाफ विविध धाराओं के तहत मामला दर्ज कर सामग्री जब्त की, जिसमें अपराध में इस्तेमाल दुपहिया एकएच 14 ईटी 0378, दो मोबाइल, एलईडी टार्च, बैटरी सेट, जाले, बोरी आदि सामग्री जब्त की. उक्त कार्रवाई उपवनसंरक्षक राकेश शेपट, सहायक वनसंरक्षक भीमसिंह ठाकुर के मार्गदर्शन में वनपरिक्षेत्र अधिकारी रुपेश खेड़कर, वनपाल सचिन कापकर, वनरक्षक मनेशकुमार सज्जन, वनरक्षक यूल पवार, वनरक्षक अमोल पिसे, वनरक्षक संजय गायकवाड, वाहन चालक अशपाक पठान ने की.