आशा गुटप्रवर्तकों की हड़ताल जारी, सीटू के नेतृत्व में खींचा शासन का ध्यान

    वर्धा:  महाराष्ट्र आशा गुटप्रवर्तक सीटू व कृति समिति के आह्वान पर वर्धा जिला आशा गुटप्रवर्तक कर्मचारी यूनियन द्वारा जिला परिषद कार्यालय में आंदोलन करते हुए प्रलंबित मांगों को लेकर हड़ताल शुरू कर दी है़  इस दौरान मांगों के फलक व काले झंडे दिखाकर कर्मचारियों ने राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. आंदोलन स्थल पर यशवंत झाड़े, भैय्याजी देशकर ने राज्य व केंद्र सरकार की कामगार विरोधी नीति पर प्रहार किया़.

    आंदोलन में आशा गुटप्रवर्तक संगठन की जिला सचिव अर्चना घुगरे, अध्यक्षा अलका जराते, कार्याध्यक्ष मीनाक्षी गायकवाड, सुषमा गुरनुले, वैशाली टिपले के नेतृत्व में आशा गुटप्रवर्तक उपस्थित थे़  इस दौरान सरकारी नौकरी में शामिल करने, सामाजिक सुरक्षा, पेंशन, मेडिक्लेम योजना लागू करने, 45 वे श्रम आयोग की सिफारिश के अनुसार आशा व गुटप्रवर्तकों को वेतन लागू करने, कोविड टीकाकरण में ड्यूटी बंधनकारक नहीं, फिर भी उन्हें भेजा रहा रहा है़. इसके लिए अलग से उपलब्ध कराकर प्रतिदिन 500 रुपए भत्ता देने, आशा को कोरोना टेस्ट जांच शिविर में ड्यूटी नहीं लगाने आदि विभिन्न मांगों का समावेश है़.

    आंदोलन में संध्या संभे, अर्पणा देशमुख, आशा राऊत, अर्चना वानखेड़े, दिपाली ताजनेकर, रानी हेडाऊ, सीमा वानखेड़े, शारदा ढोणे, अमृता चलाख, सविता गुल्हाणे, सिमा वानखेडे, शारदा ढोणे, अमृता चलाख, सविता गुल्हाणे, सीमा वानखेड़े, सरिता झाड़े, लीना तेल्हे, सपना गायकवाड़, प्रतिभा म्हैसकर, जयश्री पाटिल, सारिका गुल्हाणे, मोनिका थूल, जया पाझारे, कांचन दांडेकर, नम्रता देशमुख, गीता मसराम, जया लांजेवार, शुभांगी मलवे, वैशाली टिपले, पुष्पा घसाट, दुर्गा गोडे, संगीता लिमजे, सायली गाठे, जयश्री मशालकर, वर्षा सायंकार, प्रतिभा आर्वीकर, शालिनी रघाटाटे, भारती बोकडे, वसुंधरा वालके, मंगला मनोहरे, अर्पणा देशमुख, सीमा काले, आशा राऊत, अश्विनी बुराडे, विभा आगलावे, अलका पुरी, प्रमिला मुडे, नीता कैकाडे, वर्षा मदनकर, माधुरी लोणकर, प्रमोदिनी भगत, विद्या चौधरी, अलका पुरी, अनिल चव्हाण, पांडुरंग राऊत, प्रभाकर धवने, संजय भगत, विनोद अवथले आदि उपस्थित थे़.