Potholes, Besharm Plant

    कारंजा-घाड़गे (सं). आर्वी विस चुनाव क्षेत्र में वर्ष 2018 में तत्कालीन सरकार की ओर से सार्वजनिक लोकनिर्माण विभाग के अंतर्गत रास्तों के लिए बजट में 53 करोड़ रुपए का निधि मंजूर किया था़  इसमें 36 करोड़ का प्रावधान अकेले कारंजा तहसील के मार्गों के लिए किया गया, किंतु मार्ग का कार्य अधूरा होने से नागरिकों को आवागमन में परेशानी हो रही है़  इसके चलते तत्काल निर्माण कार्य शुरू करने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने राज्यमार्ग के गड्ढों में बेशरम के पौधे लगाकर आंदोलन किया.

    मंजूर निधि अंतर्गत कारंजा तहसील के कारंजा-नारा-माणिकवाडा-साहूर, काकडा-परसोडी सेलगांव (ल) बोरी-धर्ती-काटोल, चिंचोली-येणगांव-उमरी, कन्नमवार ग्राम-आजनडोह, ठाणेगांव-खरसखांडा समेत सावली (खुर्द)-आगरगांव-धानोली, बांगडापुर–सुकली(बाई) एमडीआर-7  इन मार्गों का कार्य पूर्ण होना था़  सभी मार्ग की निविदा प्रक्रिया पूर्ण होने के उपरांत कार्य का वितरण किया गया.  

    दुर्घटना से लोगों का फूटा गुस्सा

    वहीं सावली (खुर्द)- आगरगांव-धानोली व बांगडपुर सुकली(बाई) मार्ग का कार्य पूर्ण नहीं हुआ है़  बांगडपुर–सुकली(बाई) रास्ते का अधूरा कार्य काटोल स्थित ठाकुर कंस्ट्रक्शन ने किया़  अन्य कार्य मिश्रा कन्ट्रक्शन को प्राप्त हुआ था़  इस मार्ग के कार्य का भूमिपूजन दो वर्ष पूर्व विद्यमान तथा पूर्व विधायक द्वारा किया गया, लेकिन फिर भी निर्माण कार्य पूर्ण नहीं हो पाया है़ सावली (खुर्द) आगरगांव धानोली मार्ग का कार्य कटेरिया कन्स्ट्रक्शन ने लिया था, लेकिन दोनों मार्गों का कार्य अभी तक पूर्ण नहीं हुआ़  इससे मार्ग पर बड़े-बड़े गड्ढे निर्माण होने से आवागमन की समस्या ग्रामीणों के सामने निर्माण हो गई है.  

    मंत्री चव्हाण से शिकायत करेंगे 

    बांगडापुर सुकली(बाई) मार्ग पर जगह-जगह गड्ढे होने से वाहनचालकों को परेशानी हो रही है़  आएं दिन मार्ग पर दुर्घटनाएं घट रही है़  सोमवार सुबह सिंदी विहिरी निवासी एक व्यक्ति कन्नमवारग्राम अस्पताल जा रहा था़  इस दौरान दुर्घटना के कारण वह गंभीर रूप से घायल हुआ़  परिणामवश नागरिकों का गुस्सा फूटने के कारण उनके द्वारा मार्ग पर बेशरम के पेड़ लगाकर निषेध किया गया़  मार्ग का भूमिपूजन होने के उपरांत भी निर्माण कार्य शुरू नहीं होने से राज्य के सार्वजनिक लोकनिर्माण मंत्री मंत्री अशोक चव्हाण के पास शिकायत करने की बात ग्रामवासियों ने कही है.