Bhagat, Tiger Attack

    आष्टी (शहीद). करीब डेढ़ माह से लापता खेत मजदूर के खून से सने के कपड़े जंगल में मिलने से खलबली मच गई़ किसान पर बाघ ने हमला कर अपना निवाला बनाने का संदेह व्यक्त किया जा रहा है़ मृतक किसान का नाम आर्वी (छोटी) निवासी रामदास नारायण भगत(72) बताया जा रहा है़ आगे की जांच पुलिस कर रही है.

    डेढ़ माह से था लापता

    खेतमजदूर रामदास भगत विगत डेढ़ माह से घर से लापता था़  जिसकी शिकायत पुलिस थाने में दर्ज है़ गुरूवार को सुबह उसका बेटा गजानन व परिजन जंगल परिसर से सटे खेतों में उसकी तलाश के लिए गए थे़  इस दौरान जंगल परिसर में उसकी साईकील दिखाई दी़  पश्चात उन्होंने जंगल की ओर तलाश जारी करने पर खून से सने हुए कपड़े एवं आधारकार्ड पाया गया़  इसकी जानकारी पुलिस पटेल, वनविभाग को देते ही उन्होंने घटनास्थल पर आकर पंचनामा किया़  इस दौरान अंतोरा प्राथमिक केंद्र के वैद्यकीय अधिकारी डा़ अरविंद मंडारी को घटनास्थल बुलाकर पोस्टपार्टम किया.  

    की जा रही जांच

    खेतमजदूर पर बाघ ने हमला करने का संदेह व्यक्त किया जा रहा है़  आगे की जांच पुलिस व वनविभाग की टीम कर रही है़  घटनास्थल पर वनपरिक्षेत्र अधिकारी सुहास पाटिल, वनपाल बारसे, वनरक्षक स्वाती वानखेडे, कोकरे, ठाकरे, गणेशपुरे, केंद्रे, वानखडे, भगत, पुलिस उपनिरीक्षक अमोल ठमके, जमादार विनायक घावाट, विलास राठोड, अमित जुवारे, गजू वडनेरकर, निखिल वाणी, पुलिस पटेल देवानंद पाटील आदि उपस्थित थे.