दिन भर बादलों की लुपाछिपी, पारा 41.06 डिग्री सेल्सियस

    वर्धा. 25 मई से नवतपा की शुरुआत हुई. नवतपा के दूसरे दिन धुप-छाव के साथ बादलों की लुपाछिपी जारी रही. परंतु तापमान में वृद्धि देखी गई. 26 मई जिले का तापमान 41.06 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

    बुधवार को सुबह से ही तेज धुप रही. जिससे गर्मी व उमस से लोग बेहाल हो गए. दौरान दोपहर के समय बादलों की लिपाछिपी देखी गई. धुप-छावं का खेल दिनभर चलता रहा. 25 मई नवतपा के पहले दिन तापमान 40.05 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ था. दूसरे दिन तापमान में वृद्धि देखी गई. परंतु सूरज बादलों के बिच लिपाछिपी खेलता रहा.

    इस दौरान उमस व गर्मी से लोगों का बुरा हाल हुआ. नवतपा को ज्येष्ठ महीने के ग्रीष्म ऋतु में तपन की अधिकता का द्योतक माना जाता है. शुक्ल पक्ष में आद्रा नक्षत्र से लेकर 9 नक्षत्रों में 9 दिनों तक नवतपा रहता है. कहा जाता है कि, आर्द्रा के 10 नक्षत्रों तक जिस नक्षत्र में सबसे अधिक गर्मी पड़ती है, आगे चलकर उस नक्षत्र में 15 दिनों तक सूर्य रहते हैं और अच्छी वर्षा होती है.