Encroachment
File Photo

  • नागरिकों ने रोका काम, बना तनाव का माहौल

आर्वी. नगर परिषद की सीमा में स्थित ओपन स्पेस में बना निर्माण कार्य लाइब्ररी के लिए हस्तांतरित होते देख उस पर जेसीबी चलाने का मामला शहर के दुर्गावती नगर में घटा. इस दौरान नागरिकों ने काम रोक दिया. घटना से कुछ समय तक परिसर में तनाव का माहौल रहा. प्रकरण में नागरिकों ने उपविभागीय अधिकारी व थाना में शिकायत दर्ज की. तलेगांव श्यापं मार्ग पर स्थित कालेज के सामने जयस्वाल का खेत है, जिसमें जयस्वाल ने होटल लगाया था. 15 वर्ष पहले उस जगह पर लेआउट डाला गया.

तीन भाइयों के हिस्से की जगह थी, जिस जगह होटल बना था वह जगह लेआउट में ओपन स्पेस में थी. इससे होटल नपा के ओपन स्पेस में चला गया. वर्ष 2012 में लेआउट के 10 प्लाट चेतन अग्रवाल को बेचे गए. ओपन स्पेस का होटल भी विरजू जयस्वाल ने बंद कर दिया. वह जगह अभ्यासिका के लिए नप को दान करने का पत्र दिया. इस संबंध में नप की विशेष सभा में 18 दिसंबर को प्रस्ताव लिया जाना था. परंतु इसकी भनक लगने से चेतन अग्रवाल ने 17 दिसंबर को जेसीबी लगाकर मजबूत सीमेंट का निर्माण कार्य तोड़ना शुरू कर दिया. किंतु लेआउट में रहने वाले नागरिकों के ध्यान में आते ही उन्होंने रोकने का प्रयास किया.

नगरसेविका के पति हेमंत काले वहां पहुंचकर जेसीबी के सामने खड़े हो गए. ओपन स्पेस के सामने लेआउट वासियों ने श्रमदान कर उद्यान बनाया है. परिसर के नागरिकों ने यह जगह प्लाटधारक विरजु जयस्वाल से अभ्यासिका व इनडोअर गेम हेतु मांगी थी. विरजु जयस्वाल भी जगह देने तैयार थे, लेकिन चेतन अग्रवाल ने उस जगह पर जेसीबी चला दिया. प्रकरण में नप ने पंचनामा कर चेतन अग्रवाल को नोटिस जारी कर 24 घंटे के भीतर जवाब मांगा है. इस संबंध में नागरिकों ने भी उपविभागीय अधिकारी, तहसीलदार, थानेदार को ज्ञापन भेजकर कार्रवाई करने की मांग की है.