सीसीआई केंद्र पर कपास खरिदी शुभारंभ, कपास बिक्री के लिए पंजीयन करें किसान

हिंगनघाट. गैरंटी मूल्य व खुले भाव में काफी अंतर होने से किसान अपना कपास सीसीआई को ही बेचे़ इसके पहले बाजार समिति में पंजीयन करना जरुरी है़ जिनका पंजीयन हुआ, ऐसे ही किसान केंद्र पर पहुंचे़ जिन्होने अब तक पंजीयन नहीं किया, वें अपना पंजीयन कराये़ ऐसा आवाहन कृउबास के सभापति एड. सुधीर कोठारी ने किया़ 

सन 2020-21 मौसम के लिए केंद्र सरकार द्वारा गैरंटी मूल्य पर कपास खरिदी का शुभारंभ 19 नवम्बर को मार्केट यार्ड में किया गया़ इस प्रसंग पर एड. कोठारी बोल रहे थे़ सर्वप्रथम सभापति कोठारी ने दरोडा निवासी किसान जिजा मुरलीधर भेंडे के कपास वाहन की पुजा की़ पश्चात शाल, श्रीफल देकर किसान को सम्मानित किया गया़ दूसरे किसान वासुदेव गोटे का सुनील राऊत तथा तीसरे किसान रामराव इंगोले का जिप के कृषि सभापति माधव चंदनखेडे, चतुर्थ किसान भोजराज शिवणकर का संचालक मधुकर डंभारे, पांचवे किसान रामदास लाखे का खरिदी विक्री के अध्यक्ष दिगांबर चांभारे के हाथो सत्कार किया गया.

इस प्रसंग पर सीसीआई के ग्रेडर नाभाराम पोवार, समुद्रपुर कृउबास के सभापति हिम्मत चतुर, सभी संचालक मधुसुदन हरणे, प्रा़ शेषकुमार येरलेकर, ओमप्रकाश डालीया, सुरेश सातोकर, उत्तम भोयर, बलिराम नासर, बापुराव महाजन, संजय कातरे, हिंगनघाट खरिदी विक्री के उपाध्यक्ष राजु भोरे, संचालक अनील दौलतकर, देविदास ईखार, तेजस तडस, वडनेर ग्रापं सदस्य गुरुदयालसिंग जुनी, संतोष खाडे, टिकाराम नौकरकार, अडते सुनील इंगोले एवं किसान बडी संख्या में उपस्थित थे.

शुभारंभ अवसर पर मार्केट परिसर में 250 वाहन कपास की आवक हुई़ गैरंटी मूल्य 5825 रु़ के अनुसार सीसीआई ने भाव दिया़ वहीं निजी कपास खरिदीदार द्वारा माल की गुणवत्ता के अनुसार 5510 से 5611 रुपए प्रति क्विंटल मूल्य दिया गया़ निजी खरिदीदारो में प्रकाश वाईट गोल्ड, जलाराम इंडस्ट्रीज, माँ भवानी, सालासर काटेक्स, बालाजी जिनींग, श्रीनिवास जिनींग, एस एस इंडस्ट्रीज, रख्मनी कॉटेक्स, पद्मावती एग्रो, बीआरटी इंडस्ट्रीज व विजयलक्ष्मी जिनींग करीब 11 कपास खरिददार उपस्थित थे़ निजी कपास खरिदी के शुभारंभ से अब तक करीब 85 हजार क्विंटल कपास की खरिदी होने की जानकारी है.