बिल में गड़बड़ी से ग्राहक परेशान, बिजली महावितरण नहीं सुन रही फरियाद

गिरड. बिजली महावितरण कंपनी की मनमानी से इन दिनों जिले के अधिकांश उपभोक्ता परेशान हैं. अनाप शनाप बिजली बिल भेजे जा रहे हैं. सुधार के लिए उपभोक्ता बिजली आफिस के चक्कर लगाने को मजबूर हैं. उपभोक्ताओं को आफिस पहुंचने पर जिम्मेदार अधिकारी के नहीं मिलने से परेशनी का सामना करना पड़ रहा है. बिजली बिल में गड़बड़ी से लोग परेशान है, लेकिन फरियाद करने कोई नहीं मिलने से रोष व्यक्त हो रहा है.

इसी तरह का एक मामला गिरड में सामने आया है, जहां पर विजय गिरडे को एक यूनिट का बिल 500 का भेजा गया है, एक यूनिट का बिल 500 कौन से हिसाब से होता है यह बात समझ में नहीं आ रही है. इस तरह की लापरवाही बिजली विभाग की, जिसकी वजह से आम नागरिक परेशान है. लगातार गलत रीडिंग से बिजली बिल ज्यादा आने की शिकायत लेकर उपभोक्ता बिजली आफिस पहुंच रहें. इस माह ज्यादा बिल के अलावा सिक्युरिटी चार्ज जुड़कर आया है, जिससे बिजली का बिल मिलते ही उपभोक्ताओं के होश उड़ गए हैं.

कार्यालय में नहीं रहते जिम्मेदार अधिकारी

अपनी समस्या को लेकर बिजली आफिस पहुंचे उपभोक्ताओं को परेशानी हो रही है. कार्यालयों में जिम्मेदार अधिकारी ही मौजूद नहीं रहते. अन्य अधिकारी व कर्मचारी टालमटोल रवैय्या अपनाने से उपभोक्ताओं का दु:खड़ा सुनने कोई नहीं है. 

बिल ने ठंड में छुड़ाया पसीना

ठंड के मौसम में बिजली का बिल उपभोक्ताओं का पसीना निकाल रहा है. उपभोक्ताओं के घरों और संस्थाओं में पहुंचने वाले बिल में पहले से गड़बड़ी होने से लोग परेशान थे. इस माह अब सिक्युरिटी डिपाजिट जोड़कर भेजे गए बिल से लोग हलाकान हैं. शिकायत करने पर जितना यूनिट जलाया गया उतना बिल भेजा गया है, कहकर पल्ला झाड़ लेते हैं. 

यूनिट के हिसाब से अधिक बिल

यूनिट रेट के हिसाब से ज्यादा का बिल आ रहा है. डिमांड चार्जेस के नाम पर और एनर्जी चार्जेस के नाम पर बिल में पैसे जुड़े जा रहे हैं, जो हमारे समझ के बाहर है. इस बारे में अधिकारियों से बात करने पर समाधान कारक जवाब नहीं मिल रहा है.  

-अविनाश मेहरकुरे, उपभोक्ता-गिरड.