शराबबंदी हटाने की उठ रही मांग, आज बैठक, युवाओं ने कसी कमर

    वर्धा. शराबबंदी हटाओ, वर्धा बचाओ आंदोलन की शुरूआत अब जिले में हो गई है़ समिति की दूसरी बैठक रविवार को स्थानीय विश्रामगृह में आयोजित की गई है़ इसके लिए विशेष कर युवा वर्ग ने कमर कस ली है़ बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिये जाएंगे. बैठक में आगामी आंदोलन की दिशा तय की जाएगी़ जिलास्तरीय कार्यकारिणी का चयन किया जाएगा़ बैठक में विविध दलो के पदाधिकारी व संगठनों को शामिल होने का आह्वान किया गया है.

    शराबबंदी हटाओ, वर्धा बचाओ आंदोलन का मुख्य उद्देश्य सक्षम अर्थव्यवस्था तैयार करना है़ शराबबंदी का निर्णय थोपना यह अप्राकृतिक व अन्यायकारक है़ शराबबंदी से वर्धा जिले में आर्थिक, सामाजिक, स्वास्थ्यविषयक, शैक्षणिक प्रश्न निर्माण हो गया है़ पिछली पांच पीढ़ियों का भारी नुकसान शराबबंदी ने किए जाने की बात आंदोलन समिति का कहना है.

    अनेकों के लिए यह विषय मनोरंजन का बन गया है़ परंतु इसके पिछे की वास्तविकता कोई देखने के लिए तैयार नहीं है, जो लोग गंभीर नहीं. वे एक बार बैठक में पहुंचकर इसकी गंभीरता को समझने की बात आयोजकों ने कही है.

    बैठक सभी के लिए खुली है़ सभी ने राजनीतिक भेदभाव, विचारधारा, धर्म, जाति आदि को दूर रखकर बैठक में शामिल होना चाहिए़ आंदोलन को मजबूत बनाने का आह्वान किया गया है़ इस आशय का संदेश दिनभर सोशल साइट पर चर्चा का विषय बना रहा.