mahalaxmi

 देवली. स्थानीय महालक्ष्मी कंपनी के भट्टी क्रमांक 2 में मंगलवार को बडा विस्फोट हुआ. विस्फोट इतना भयानक था कि, धरती कांपने लगी. लेकिन भट्टी नीचे की तरफ फुटने से गर्म लावा नीचे गिर गया, जिससे 30-40 कर्मचारी बाल-बाल बच गए. अगर भट्टी उपर फुटती तो  बडा हादसा हो सकता था.

पुलगांव में गोला बारुद भंडार होने से वहा बाम्ब निकामी किए जाते है. जिससे कई बार बडा आवाज होकर धर्ती कापने लगती है. अगर यह विस्फोट महालक्ष्मी में भी होता है तो, लोग गोला बारुद भंडार का समझकर अनदेखी करते है. ऐसा ही मामला मंगलवार को भी हुआ. मंगलवार सुबह 11.30 बजे के दरमियान अचानक महालक्ष्मी कंपनी के भट्टी क्रमांक 2 में विस्फोट हुआ. विस्फोट इतना बडा था कि, धर्ती कापने लगे, इमारतों में झटके लगे. परंतु गोला बारुद भांडार में बम निकामी होने की बात समझकर लोगों ने इस बार भी अनदेखी की. लेकिन बुधवार को यह मामला उजागर हुआ. जब कंपनी में विस्फोट हुआ तक 30 से 40 श्रमिक काम कर रहे थे. परंतु लावा नीचे गिरने से बडा हादसा टला, अन्यथा लाशे गिनना तक मुश्किल हो जाता, ऐसा डर श्रमिकों ने व्यक्त किया. गत दो दिनों पूर्व ही युवा संघर्ष मोर्चा ने श्रमिकों के हक व सुरक्षा के लिए आंदोलन किया. परंतु कंपनी प्रशासन नियमों का उल्लंघन कर श्रमिकों के जान से खिलवाड करने का आरोप हो रहा है. कंपनी में अनेक ऐसी घटना व तकनीकी समस्या निर्माण होती है, परंतु भट्टी समीप रहनेवाले श्रमिकों के पास सुरक्षा का कोई भी साधन नही होता. इससे पूर्व भी ऐसी घटना अनेक बार घटी है. हादसे में श्रमिक की मौत होती है तो उसका शव घर भेजा जाता है. ना बीमा, ना पॉलिस, ना कोई आर्थिक मदद परिवार को मिलती है., ऐसा आरोप देवली के श्रमिकों ने किया है.                           

शॉर्टसर्किट के कारण विस्फोट   

कंपनी में बुधवार को घटना घटी है.जो विस्फोट हुआ वह छोटा था.जिससे कोई आताहत नही हुआ.शॉर्टसर्किट के कारण यह हुआ है.मजदूरों की सुरक्षा के संदर्भ में किसी भी प्रकार की कोताही कंपनी नही बरतती है.सुरक्षा संबंधी सभी सभी उपाययोजना कंपनी में उपलब्ध है.

श्याम मुंदड़ा , महाप्रबंधक, महालक्ष्मी टीएमटी,देवली