18-w-Gaddhe Buzao Aandolan01

    वर्धा. शहर के प्रमुख मार्गों पर जानलेवा गड्ढे आए दिन दुर्घटना को आमंत्रण दे रहे है़ं  इस गंभीर समस्या की ओर नगर परिषद प्रशासन अनदेखी हो रही है़  आखिरकार रविवार को युवाओं का गुस्सा फुटा़  शहर के विभिन्न मार्गों पर जानलेवा गड्ढे बुझाकर अभिनव आंदोलन किया गया़  इस दौरान जय महाराष्ट्र युवा संगठन के नेतृत्व में युवाओं ने नगर परिषद प्रशासन के खिलाफ जोरदार नारेबाजी कर निषेध व्यक्त किया.  

    सुबह 9 बजे बड़ी संख्या में युवक पावडे चौक में इकठ्ठा हुए़  उन्होंने नगरपरिषद प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए आंदोलन को शुरूआत की़  इस दौरान पावडे चौक से लेकर छत्रपति शिवाजी महाराज चौक तथा सोशालिस्ट चौक से वंजारी चौक तक मार्ग से आंदोलन करते हुए कई जानलेवा गड्ढे बुझाए. रोजमर्रा परेशानी दूर करने युवाओं ने पहल करने से आंदोलन की आम जनता द्वारा सराहना की जा रही थी.   

    प्रशासन कर रहा नजरअंदाज

    शहर में भूमिगत गटर योजना का कार्य पिछले कुछ वर्षों से शुरू है़  जिसके लिए पक्के रास्तों की खुदाई की गई़  लेकिन मरम्मत कार्य करते समय काफी निकृष्ट दर्जे का कार्य किया गया है़  परिणामवश जगह-जगह गड्ढे हो गए है़ं  बारिश के मौसम में यह गड्ढे हादसों को न्योता दे रहे है़ं  प्रतिदिन दुर्घटनाएं घटने से दुपहिया चालक घायल हो रहे है़ं  फिर भी नगर परिषद प्रशासन द्वारा अनदेखी की जा रही़  अधूरा कार्य पूर्ण न करते हुए दूसरे कार्य शुरू किए जा रहे है़ं  जिससे शहरवासियों के सामने अनेक समस्याएं निर्माण हो रही है.  

    आंदोलन की चेतावनी

    मार्ग पर गड्ढों के कारण लोग हादसों के शिकार हो रहे है़ं  फिर भी नगर परिषद प्रशासन नींद में है़  पहले चरण में यह शांतिपूर्ण ढंग से आंदोलन किया गया़  लेकिन मार्गों की समस्या तत्काल दूर नहीं की गई तो तीव्र आंदोलन करेंगे, ऐसी चेतावनी संगठन के समन्वयक निखिल सातपुते ने दी़  जिसके लिए नगर परिषद प्रशासन जिम्मेदार रहेगी़  आंदोलन में अमोल वांदिले, मंगेश भोंगाडे, अभय चौधरी, किरण गोसत्कर, अशोक भिवगडे, अभिजित हेडाऊ, कुणाल मोरे, प्रदीप मेंढे, किशोर बाहे, श्रीकांत कहाते, अनिकेत कावलकर, राहुल गोल्हर, सुनिल चंदनखेडे, प्रतिक पांडे आदि का समावेश था.