किसानों ने रोके ठेकेदार के वाहन, मार्ग की गंभीर अवस्था के चलते किसान त्रस्त

  • खेतों में आवागमन हुआ मुश्किल

वर्धा. पहले ही किसान विविध समस्याओं से त्रस्त है. ऐसे में अब समृद्धि महामार्ग के काम के चलते सडकों की हालत खस्ता होने से खेती में जाने का मार्ग ही बंद हो गया है. जिससे रोष में आये येलाकेली के किसानों ने सोमवार को ठेकेदारों के वाहन ही रोककर रखे. उक्त समय ठेकेदारों ने किसानों को पुलिस की धमकी देने से कुछ समय तक तनाव का माहौल निर्माण हुआ.

परिसर में समृद्धि महामार्ग का काम जारी है. जिससे सडकों से भारी वाहनों का आवागमन होने से मार्ग पूरी तरह से खस्ताहाल हो गया है. येलाकेली स्थित मौजा केली निवासी किसान वैभव, रत्नाकर वानखेडे व अन्य 20 किसानों की केली परिसर में खेती है. किसानों ने विविध फसलों की बुआई की है. प्रतिदिन किसान दुपहिया, बैलगाडी या पैदल खेतों में आवागमन करते है. परंतु महामार्ग के काम के कारण वाहनों का दिनभर आवागमन शुरु रहता है. जिससे सडक पर बडे बडे गड्डे निर्माण हुए है. उसमें पानी जमा होने से किसानों का आवागमन मुश्किल हो गया है. जिस कारण सोमवार को ठेकेदारों के वाहन रोककर न्याय की मांग की.

उक्त समय किसान नारायण खोबे, वैभव वानखेडे, अजय सुरूशे, विवेक वानखेडे, प्रविण चौधरी, सोनु ठाकूर, शंकर घोगडे, दीपक भाडेकार, प्रमोद बिजवार, राजू डोगरे, दिलीप सायरे, प्रभाकर लोणकर, मोनु ठाकूर, सजु कालैकर, प्रविण खोबे, अविनाश वानखेडे, सतिश लोणकर, रवी सायरे, सुयोग्य ठाकरे, गणेश पिलवटकर मौजूद थे.