Mahavitaran gave 71 thousand connections in Vidarbha in lockdown

  • थाने तक पहुंचे रहे ग्राहकों के विवाद

वर्धा. महावितरण कंपनी द्वारा बकायाधारकों से सख्त वसूली की जा रही है़ परंतु विभाग के कर्मचारियों की सख्ती से ग्राहको में असंतोष व्यक्त किया जा रहा है. इससे कई बार विवाद की नौबत आ जाती है़ कुछ मामले तो पुलिस तक पहुंच चुके है़ लाकडाउन के काल में महावितरण ने तीन माह तक बिजली बिल नहीं भेजा था़ इसमें सहूलियत मिलने की आमजनों को उम्मीद थी.

परंतु एकसाथ तीन माह का बिल भेजकर महावितरण ने सख्त वसूली की मुहिम शुरू कर दी़ बिजली कनेक्शन भी काटने शुरू कर दिए. इससे जनता परेशान हो गई़ बढ़ते असंतोष को देखते हुए सरकार ने बिजली कनेक्शन न काटे जाने के निर्देश दिए़ साथ ही ग्राहकों को कुछ हफ्तों में बिल भरने की सहूलियत देने को कहा गया़ बावजूद इसके महावितरण के रवैये में कुछ खासा असर देखने नहीं मिल रहा है. शहर में बिजली बिल वसूली की मुहिम सख्ती से चलायी जा रही है़ परिणामवश विवाद की स्थिति पैदा हो रही है.

पुलिस कार्रवाई के नाम पर धमकाने का आरोप 

दो दिन पहले इतवारा परिसर में ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया़  कार्रवाई करने पहुंचे महावितरण के सहायक अभियंता से हाथापाई की गई़  प्रकरण में ग्राहक के खिलाफ थाने में मामला दर्ज किया गया़ कर्मचारी पुलिस कार्रवाई के नाम पर धमकाते है. इससे ग्राहक डर के मारे कुछ नहीं कर पाता़  कुछ दिनों पहले गुस्साए ग्राहक ने बैचलर मार्ग पर स्थित बिजली वितरण केंद्र भी जलाने की कोशिश की थी़  इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए महावितरण ने बिजली ग्राहकों से समन्वय बनाकर काम करने की जरूरत है.