62 suspected patients admitted to ISOLATION, 40 came in contact with youth of Sindhi Camp

  • कर्मचारी स्वयं जायजा लेकर करें निर्णय

वर्धा. डब्ल्यूएचओ के निर्देशानुसार अतिसौम्य लक्षण पाये जानेवाले मरिजों को नियम व शर्तों के आधार पर होम आईसोलेशन की अनुमति दी जा रही है़ परंतु इस जटिल प्रक्रिया से मरिज व परिजन त्रस्त हो रहे है़ परिवार का कोई सदस्य बाधित निकलने पर अन्य सदस्यों को क्वारंटाईन किया जाता है़ ऐसे में उक्त प्रक्रिया को पुर्ण करने काफी दिक्कते पैदा हो रही है़ परिणामवश स्वास्थ्य विभाग ने स्वयं बाधित के मकान का जायजा लेकर अनुमति दी जा सकती हैं या नहीं, यह निर्णय लिया जाए, ऐसी मांग नागरिक कर रहे है़ 

जिले में कोरोना मरिजों की संख्या दिन ब दिन बढ रही है़ प्रतिदिन सौ से अधिक मरिज मिल रहे है़ राज्य व देश में भी स्थिति गंभीर बनी हुई है़ इसी बीच डब्ल्यूएचओ ने अतिसौम्य लक्षण पाये जानेवाले मरिजों को होम आईसोलेशन की अनुमति दी है़ परंतु इसके लिए कुछ नियम व शर्तो को पुरा करना जरुरी है़ बाधित के मकान में स्वतंत्र रुम जरुरी है, केअर टेकर सहित अन्य शर्तों को पुरा करने पर ही अनुमति देने की बात कही है़ आवेदन भी भरा जाता है़ परंतु कोई बाधित पाये जाने पर इस प्रक्रिया को पुर्ण करना कठीण हो रहा है़ ऐसी स्थिति में स्वास्थ्य प्रशासन के कर्मचारी ने स्वयं स्थिति का जायजा लेना चाहिए़ मकान व परिवार में पर्याप्त सुविधा हैं या नहीं, यह देखकर होम आईसोलेशन की अनुमति देनी चाहिए़ इसके लिए इतने सारे नियम व शर्तों की क्या जरुरत है़ कई बार सुविधा होते हुए भी प्रशासन अनुमति नहीं देता़ इस संबंध में गंभीरता से ध्यान देने की जरुरत है़