आवारा पशुओं की संख्या में वृद्धि, शहर में दुर्घटना की आशंका

    • नप प्रशासन की अनदेखी

    वर्धा: इन दिनों शहर के विभिन्न मार्गों पर आवारा पशुओं में वृद्धि हो गई है़  मुख्य मार्ग पर घूम रहे पशुओं से यातायात में बाधा निर्माण हो रही है़  आए दिन दुर्घटना का खतरा बना रहता है़  जिससे इस ओर नगर परिषद प्रशासन ने ध्यान देकर जानवरों को पकड़ने की मुहिम चलाना जरूरी है़.

    इसे गंभिरता से नहीं लिया तो भविष्य में जरूर खामियाजा भुगतना पड़ेगा़  पहले ही मेन रोड पर गटर योजना का कार्य शुरू है़  जिससे मार्ग पर डिवाइडर के एक ही छोर से ट्रैफिक शुरू है़  ऐसे में मार्ग पर आवारा पशु आ जाने से ट्रैफिक की समस्या निर्माण हो रही है़  कभी कभार दो जानवर आपस में भीड़ जाते है़ं  ऐसे में मार्ग से दुपहिया तथा पैदल गुजरने वालों के जान पर बन सकती है़  मार्ग पर प्रतिदिन आवारा पशुओं का डेरा दिख रहा है़  

    आर्वी नाका पर समस्या गंभीर

    आर्वी नाका चौक पर बड़े पैमाने पर सब्जी एवं फ्रुट की दूकानें लगती है़ं  कई दूकानदार बची हुई सब्जी डिवाइडर के बीच लाकर डाल देते है़ं  जिससे आवारा पशु डिवाइडर पर चराई करते दिख रहे है़ं यह पशुओं के झुंड 10 से 12 की संख्या में रहने से ट्रैफिक को दिक्कत हो रही है़ 

    मुहिम चलाने की जरूरत

    छत्रपति शिवाजी महाराज चौक से बजाज चौक, बस स्थानक, रेलवे स्टेशन, बैचलर रोड, नागपुर रोड के साथ ही मार्केट परिसर में आवारा पशुओं से यातायात में बाधा निर्माण हो रही है़  नगर परिषद प्रशासन ने मवेशियों को पकड़ने के लिए मुहिम चलाने की जरूरत है़