कोरोना जांच की संख्या बढ़ाएं : संजीवकुमार

  • उपाययोजनाओं का लिया आयुक्त ने जायजा

वर्धा. संभागीय आयुक्त संजीव कुमार ने कहा कि जिले में सर्दी, खांसी, बुखार, स्वाद न आना, सांस लेने में तकलीफ, डायरिया व इन्फ्लुएन्झा जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों को खोजकर उनकी कोरोना जांच करने का अभियान चलाया जाए. अधिक से अधिक जांच होने पर प्राथमिक अवस्था में होने वाले मरीज खोजकर उपचार करना संभव होगा. इसके माध्यम से होनेवाले संक्रमण भी रोका जा सकता है. जिला परिषद सभागृह में कोविड-19 संदर्भ में जिले में चलाए जानेवाली उपाययोजना का जायजा उन्होंने लिया. इस समय मरीज की पहचान होने के लिए महत्वपूर्ण निर्देश दिए. 

बैठक में जिलाधिकारी विवेक भीमनवार, मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा़ सचिन ओम्बासे, जिला पुलिस अधीक्षक डा़ बसवराज तेली, अपर जिलाधिकारी अशोक लटारे, निवासी उपजिलाधिकारी सुनील कोरडे, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी सत्यजीत बडे आदि उपस्थित थे.

घर-घर जाकर करें सर्वे
संजीव कुमार ने जिले में कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए की जाने वाली उपाययोजना संबंधित जिले के सभी अधिकारी, कर्मचारियों की प्रशंसा की. जिले में अब तक उल्लेखनीय काम किया है. आगे भी जिलाबंदी हटाने के बाद, परिवहन सेवा शुरू होने पर कोरोना की संख्या में वृद्धि हो सकती है. इस दृष्टिकोण से व्यापक तैयारी के साथ ही कोरोना जांच की संख्या बढ़ाना भी आवश्यक है. गांव व नगर परिषद स्तर पर पथक तैयार कर उनके माध्यम से प्रतिदिन घर- घर जाकर सर्वेक्षण करें. यह सर्वेक्षण किसलिए किया जा रहा इसकी जानकारी व जनजागृति सर्वेक्षण पथक के साथ नागरिक व प्रशासकीय  

बैठक में जिला शल्य चिकित्सक डा़ पुरुषोत्तम मडावी, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा़ अजय डवले, उपविभागीय अधिकारी सुरेश बगले, हरीश धार्मिक, चंद्रभान खंडाईत, उपविभागीय पुलिस अधिकारी पीयूष जगताप, जिला उपनिबंधक गौतम वालदे, सभी तहसीलदार, नप मुख्याधिकारी मौजूद थे.

अति गंभीर मरीज पर विशेष ध्यान दें, गांव में हैन्डवॉश सेंटर तैयार करें
सुरक्षा के दृष्टिकोण से गांव में हैन्डवॉश सेंटर तैयार करें. आगामी तीन माह हैन्डवॉश आवश्यक प्रमाण में उपलब्ध हो, इसका ख्याल रखा जाये. उसके साथ मास्क का इस्तेमाल हर एक व्यक्ति करें. इसकी जांच नियमित रूप से करें. मास्क का इस्तेमाल न करने वालों पर कार्रवाई करें.