‘मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी’ अंतर्गत 5 लाख लोगों की जांच

  • 2 लाख 509 लोगों को मिला उपचार

वर्धा. राज्य शासन ने 15 सितम्बर से शुरु किए मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी जनजागृति अभियान अंतर्गत जिले के 603 स्वास्थ्य पथक द्वारा 1 लाख 47 हजार 368 परिवारों को गृहभेंट देकर 5 लाख 72 हजार 566 लोगों की स्वास्थ्य जांच की गई. सर्वेक्षण के दरमियान सर्दी, बुखार ऐसे लक्षन होनेवाले ऑक्सिजन की कमी मिले मरीजों को समय पर उपचार मिल सका.

25 अक्टूबर तक दो चरण में चलाए जा रहे अभियान में शहर व ग्रामीण स्तर के स्वास्थ्य कर्मचारी, आशा स्वयंसेवी संस्था के प्रतिनिधि, स्थानीय जनप्रतिनिधि होनेवाले पथक द्वारा गृहभेद देकर सर्वेक्षण कर रहे है. अभियान अंतर्गत जिले के 603 स्वास्थ्य पथक द्वारा 1 लाख 47 हजार 368 परिवारों को गृहभेंट देकर 5 लाख 72 हजार 566 लोगों से संवाद किया गया. सर्वेक्षण के दरमियान 2 हजार 509 लोगों को सर्दी, बुखार ऐसे लक्षण मिले. ऑक्सीजन का स्तर 95 फीसदी से कम होनेवाले 381 व्यक्ति पाए गए. वही सारी के 398 मरीज भी पाये गए. जिसमें वर्धा तहसील में 189 पथक द्वारा 26 हजार 102 गृहभेट में 1 लाख 6 हजार 731 लोग, सेलू में 59 पथक द्वारा 19 हजार 946 गृहभेट में 76 हजार 257 लोग,  देवली- 73 पथक ने 12 हजार 718 गृहभेट में 44 हजार 728 लोग,  आर्वी- 60 पथक द्वारा 25 हजार 362 गृहभेट में 1 लाख 32 हजार 213 लोग, आष्टी- 31 पथक द्वारा 10 हजार 556 गृहभेट में 45 हजार 701 लोग,  कारंजा- 39 पथक द्वारा 14 हजार 283 गृहभेट में 57 हजार 920 लोग, समुद्रपुर- 49 पथक द्वारा 13 हजार 117 गृहभेट में 34 हजार 341 लोग व हिंगनघाट में 103 पथक द्वारा 25 हजार 284 गृहभेट देकर 95 हजार 889 लोगों से संवाद कर स्वास्थ्य जांच की गई.