Gadar Yojna

    वर्धा. स्थानीय मेन रोड पर भूमिगत गटर लाइन का कार्य शुरू है, जिसके लिए रास्ते के बिचोबीच खुदाई कार्य किया जा रहा है. छत्रपति शिवाजी महाराज चौक पर पाइप लाइन बिछाने के बाद गड्ढा उचित तरीके से बुझाये बिना ही मार्ग यातायात के लिए शुरू किया गया, जिससे अनेक दुपहिया चालक दुर्घटनाग्रस्त हो रहे है़ं निर्माण कार्य के दौरान ठेकेदार की लापरवाही किसी की जान की दुश्मन बन सकती है़ इस समस्या की ओर गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है़ नगर परिषद द्वारा पिछले 2 साल से संपूर्ण शहर में ही भूमिगत गटर योजना का कार्य शुरू है़ शहर के पक्के रास्तों पर खुदाई होने से शुरूआत से ही इस योजना का विरोध किया जा रहा था, लेकिन विरोध को नजरअंदाज कर नगर परिषद ने भूमिगत गटर योजना का कार्य शुरू किया़ निर्माण कार्य के दौरान कुछ को जान भी गंवानी पड़ी, जिससे नागरिकों में भारी रोष व्याप्त है.

    कार्य को लाकडाउन में दी गति

    ट्राफिक के कारण मेन रोड पर भूमिगत गटर योजना का कार्य करना संभव नहीं था़, जिससे मई महीने में लाकडाउन लगते ही कार्य को गति दी गई़  बजाज चौक से लेकर छत्रपति शिवाजी महाराज चौक तक मेन रोड के पक्के सीमेंट मार्ग पर खुदाई की गई है, जो अब भी पूर्ण नहीं हुआ है. निर्माण कार्य के दौरान ठेकेदार की लापरवाही नागरिकों के लिए सिरदर्द बनी हुई है.  

    सड़क पर फिसल रहे हैं वाहन

    सड़क के निर्माण कार्य के दौरान ठेकेदार द्वारा मार्ग की खुदाई करने के बाद वह सही तरीके से उसे बुझाने की जरूरत है,  लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है़  गड्ढे में चुरी डालने के बाद वह निचे दब गई, जिससे दुपहियाचालक दुर्घटनाग्रस्त हो रहे है़ं  यह समस्या बजाज चौक से लेकर छत्रपति शिवाजी महाराज चौक तक कायम है. 

    निर्माण कार्य को लेकर नागरिकों में रोष 

    भूमिगत गटर योजना चलाते समय ठेकेदार द्वारा निरंतर कोताही बरती जा रही है़  शहर थाना परिसर से जब कार्य को गति दी थी तब सही ढंग से गड्ढे बुझाने की जरूरत थी़  शहर थाना परिसर में गड्ढे की मिट्टी दब गई है़  कई जगह तो सीमेंट रास्ते की सलाखें भी दिखती है़  बारिश के दौरान जिसमें पानी जमा हो गया था.