ObC Morcha

    वर्धा. ओबीसी समाज के नागपुर, भंडारा, गोंदिया, वाशिम व अकोला जिले के नवनियुक्त जिला परिषद, पंचायत समिति सदस्यों का सदस्यत्व रद्द कर वहां नये सिरे से चुनाव कराने का आदेश दिया गया है़ यह आदेश अन्यायकारक होने से चुनाव आयोग को वह रद्द करने के बारे में पुनर्विचार करने के लिए निर्देशित करने की मांग राष्ट्रीय ओबीसी मुक्ति मोर्चा ने मुख्यमंत्री से की है.

    ओबीसी के नागपुर, भंडारा, गोंदिया, वाशिम व अकोला जिले के नवनियुक्त जिला परिषद, पंचायत समिति सदस्यों का सदस्यत्व रद्द करने तथा उनकी जगह ओपन कर नये से चुनाव लेने का राज्य चुनाव आयोग का यह आदेश अन्यायकारक है.

    उक्त आदेश से पंचायत समिति कानून ओबीसी मागासवर्गीय के बारे में किसी भी प्रकार की उपलब्धि करने का राज्य सरकार का अधिकार राज्य घटना अनुच्छेत का उल्लंघन है़  इसलिए आदेश को राज्य अधिकार अंतर्गत पुनर्विचार तथा इस क्षेत्र की जनता को नये से चुनाव के लिए प्रताड़ित न करने की मांग निवेदन में की गई है.

    पुलगांव के नायब तहसीलदार के जरिए निवेदत देते समय नाचणगांव शहर अध्यक्ष प्रदीप ढोके, महाराष्ट्र प्रदेश संगठक अशोक आठबैले, दीपक इंगले, मनोज ढोके, दिपक बैंगणे, देवेंद्र ठाकरे, पंकज चौधरी उपस्थित थे.