Janakrosh Sabha

    वर्धा. 26 जून आरक्षण के जनक छत्रपति राजर्षि शाहू महाराज की जयंती के उपलक्ष्य में पदोन्नति का आरक्षण बचाने जनआंदोलन व आक्रोश मोर्चा निकालने निकाला जाएगा. आंदोलन में सभी समविचारी संगठन सहभागी होंगे. पिछड़ावर्गीयों के 7 मई 2021 के शासन निर्णय द्वारा रद्द किया 33 फीसदी आरक्षण सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय 17 मई 2018 व 5 जून 2018 के आदेश के तहत न्यायालय के अंतिम निर्णय के अधिन रहकर पदोन्नति दें. मंत्री समूह समिति के अध्यक्ष पद पर होने वाले पिछड़ावर्गीय मंत्री अजीत पवार ने पिछड़ावर्गियों के विरोध में निर्णय लेने से उन्हें निष्कासित कर पिछड़ावर्गीय मंत्री की नियुक्ति करने की प्रमुख मांगों के साथ 19 अन्य मांगों के लिए महाराष्ट्र राज्य स्तर पर 80 संगठन एकत्रित आकर आरक्षण हक कृति समिति के बैनर अंतर्गत जनआंदोलन करने की पूर्व तैयारी शुरू की है.

    तैयारियों में जुट गए विविध समविचारी संगठन 

    वर्धा जिले के प्रमुख संगठन व समविचारी सामाजिक व राजनीतिक संगठन को साथ लेकर मोर्चा की तैयारी शुरू है. स्वतंत्र गवंडी मजदूर यूनियन वर्धा के सभागृह में आयोजित यह निर्णय लिया गया. सभा में समन्वयक अनिल खड़से, धर्मपाल ताकसांडे, गजानन थूल, डा. गजानन सयाम, इंजि. ज्ञानेश्वर खैरे, प्रशांत रामटेके ने संबोधित किया.

    जनआंदोलन व आक्रोश मोर्चा को सफल बनाने संकल्प स्वतंत्र मजदूर यूनियन, महाराष्ट्र राज्य कास्ट्राइब कर्मचारी कल्याण महासंघ, गवंडी निर्माण कार्य मजदूर यूनियन, महाराष्ट्र राज्य पिछड़ावर्गीय विद्युत कर्मचारी संगठन, महावितरण व महापारेषण संगठन, आल इंडिया आदिवासी एम्प्लाइज फेडरेशन, आदिवासी कृति समिति, बानाई, प्रजासत्ताक शिक्षक संगठन, बामसेफ, रिपब्लिकन पार्टी, सम्बुद्ध महिला संघटन, स्वतंत्र समता शिक्षक संघ, समता सैनिक दल, भारतीय बौद्ध महासभा, बहुजन समाज पक्ष, स्वतंत्र औद्योगिक अस्थायी श्रमिक संगठन सहित अनेक समविचार संगठन ने समर्थन दिया है. मोर्चा में सहभागी होने का आह्वान महेंद्र मुनेश्वर, गौतम पाटिल, शारदा झामरे, मनीष फुसाटे, मधुकर वानखेड़े, प्रदीप लोखंडे, राजू मडावी, संजय पाटिल, प्रकाश कांबले, अभय कुंभारे, मधुकर ओरके, आशीष सोनटक्के, सुमेध बनसोड ने किया है.