क्रांतिवीर का गांव में ही हो रहा अपमान

  • क्रांतिवीर ठाकरे प्रतिष्ठान ने प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

देवली. स्थानीय नगर परिषद माध्यमिक स्कूल, कनिष्ठ महाविद्यालय को महान स्वातंत्र सेनानी, पूर्व विधायक, देवली शहर के पहले नगराध्यक्ष क्रांतिवीर महादेवराव ठाकरे का नाम दिया गया. परंतु स्कूल को दिये गए स्वातंत्र सेनानी के नाम का अनेक वर्षो से अपमान हो रहा है. इस संबंध में क्रांतिवीर महादेवराव ठाकरे प्रतिष्ठान की ओर से नप को ज्ञापन सौंपकर उचित कार्रवाई करने की मांग की गई.

जिस स्कूल को नाम दिया उस स्कूल का नाम अब दिखायी तक नही देता. स्कूल परिसर में बडा स्टेडियम बनाया गया है. पूराने स्कूल की इमारत समीप उसी स्कूल की नई इमारत बनाई गई है. परंतु नई इमारत में अबतक क्रांतीवीर महादेव ठाकरे  नाम नही दिया गया है. यहा तक कि, पूराने स्कूल के नाम की अनेक वर्षो से रंगाई तक नही की गई. ठाकरे चौक के महादेवराव ठाकरे पुतले की भी दयनीय अवस्था हुई है. नगर परिषद में अबतक हुए नगराध्यक्ष के नाम का फलक है. परंतु क्रांतिवीर महादेव ठाकरे के नाम का उल्लेख तक नही है. जिस व्यक्ति ने स्कूल के लिए अपना पूरा योगदान दिया.

अपना वेतन जरुरतमंद विद्यार्थियों के लिए किताबे, कपडे व उनके शिक्षा पर खर्च किया, जिन्होने अंग्रेजो के खिलाफ लढकर अपना पूरा जीवन समाज के लिए न्यौछावर किया, ऐसे स्वातंत्र सेनानी महादेव ठाकरे का अपना उनके ही गांव में हो रहा है. इस संबंध में सामाजिक संगठन ने कई बार निवेदन दिये, लेकिन ध्यान नही दिया. अब क्रांतिवीर महादेवराव ठाकरे प्रतिष्ठान की ओर नप प्रशासकिय अधिकारी शिंदे को निवेदन दिया गया. तुरंत नाम न लिखने पर जनता के रोष का सामना करना पडेगा, ऐसी चेतावनी दी गई. ज्ञापन सौंपते वक्त गौतम पोपटकर, प्रवीण कात्रे, प्रवीण फटींग, प्रवीण ठाकरे, अक्षय ठाकरे, गौरव खोपाल, राहुल कामडी, सागर पाटणकर, टिनू तंवर, हबीब भाई, वैभव नगराले, प्रशांत चहारे उपस्थित थे.