40 फीसदी से कम निकाले पैसेवारी

  • भाजपा किसान विकास आघाडी की मांग
  • तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

आर्वी. तहसील में सोयाबीन सहित तुअर व कपास फसल का भारी नुकसान हुआ है. अतिवृष्टि के कारण फल वर्गिय फसल भी खराब होने से बागायती किसान भी चिंतित है. जिस कारण तहसील की पैसेवारी 40 फीसदी से कम घोषित करने की मांग भाजपा किसान विकास आघाडी ने तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर की है.

ज्ञापन में कहा गया है कि, तहसील में सोयाबीन फसल पर विविध रोगों का प्रादुर्भाव होने से फसल पूरी तरह से बर्बाद हुई है. साथ ही अतिवृष्टि से कपास व तुअर का उत्पादन भी कम होने की संभावना है. संतरा व मोसंबी फसल का मृग बहार व फल गिरने से किसानों का काफी नुकसान हुआ है. जिस कारण तहसील की पैसेवारी 40 फीसदी से कम घोषित करने की मांग भारतीय जनता पार्टी के किसान विकास आघाडी ने तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर की है. ज्ञापन सौंपते वक्त किसान विकास मोर्चा के अध्यक्ष मनीष उभाड, भाजपा शहर अध्यक्ष डोले, सचिंद्र कदम, देवेंद्र बोके, अश्विन शेंडे, ओमप्रकाश कडू, संजय एकापुरे, छत्रपति बोके, निखिल कडू, जितेंद्र मात्रे, रोशन राऊत, निखिल खोंडे, प्रफुल वागदे उपस्थित थे.