court

    हिंगनघाट. कर्ज के नाम पर लोगों को ठगने के मामले में कोलकता से गिरफ्तार आरोपी आशीष डे को न्यायालय ने 15 तक पीसीआर सुनाया. आरोपी को कोलकता से रात 12.30 हिंगनघाट लाया गया. पश्चात न्यायालय में पेश किया गया. आत्मनिर्भर योजना अंतर्गत कर्ज देने का झांसा देकर लोगो से धोखाधड़ी प्रकरण में पुलिस ने संचालिका प्रमोदिनी राजेश आस्कर को गिरफ्तार कर पांच दिन का पीसीआर सुनाया था. वहीं विशाल धाबेकर नागपुर, मयूर वैद्य और मास्करमाइंड आशीष विशाल डे मुंबई से फरार हुआ था.

    साइबर सेल पुलिस अधीक्षक प्रशांत होलकर के मार्गदर्शन में तहकीकात कर रही थी. आरोपी बार-बार पुलिस को चकमा दे रहा था. दौरान पुलिस ने गुप्त जानकारी के आधार पर आरोपी आशीष डे को कोलकाता से गिरफ्तार किया. आरोपी वाराणसी का रहनेवाला है. उसने मुंबई के संम्बासिस से 2003 को एमबीए किया है. आरोपी मंजा हुआ अपराधी है. धोखाधड़ी के केस में पनवेल की जेल में ढाई साल की सजा तक भुगत चुका है. उसने बनारस हिंदु युनीवरसिटी से एमसीए किया है. आरोपी से अनेक प्रकरण उजागर होने से की संभावना जताई गई है.