लाखों की चोरी का पर्दाफाश, दो अरेस्ट, 11 लाख 61 हजार का माल जब्त

हिंगनघाट. शहर के कोठारी काम्प्लेक्स निवासी हरिश हुरकट के घर दिनदहाडे हुई लाखों की चोरी का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने दो आरोपियों को हिरासत में लिया. आरोपियों से 11 लाख 61 हजार रुपए का माल जब्त करने में पुलिस को सफलता मिली. बुलढाणा के खेर्डी निवासी लहू दगडु धंदरे व पेन निवासी राजेंद्र उर्फ सरजा सोनू भोसले यह आरोपी के नाम है.

हिंगनघाट निवासी हरिश हुरकट परिवार के साथ रिश्तेदार के घर अंत्यविधि के लिए नागपुर गए थे. दौरान दिन दहाडे अज्ञात चोर ने घर में प्रवेश कर सोने-चांदी के आभूषण व नगद सहित 45 लाख रुपए के माल पर हाथ साफ किया. इस प्रकरण में हिंगनघाट पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु की. जिसमें आरोपी लहू धंदरे के घर तक पुलिस पहुंची. परंतु पुलिस की भनक लगते ही आरोपी नदी में छलांग लगाकर जंगल परिसर से फरार हो गया. पुलिस ने पिछा कर आरोपी को  धरदबोचा. सख्ती से पूछताछ करने पर आरोपी ने चोरी किए कुछ आभूषण उनके छोडे भाई अंकुश दगडू धंदरे को देने की जानकारी दी. साथ ही कुछ आभूषण सचिन पंजाब आपटेवार, वरणा निवासी के माध्यम से सराफा व्यवसायी हर्षल किसनलाल सोनी, खामगांव को बेचने की बात बताई.

इसके अलावा सतीश इंगले से ट्रैक्टर खरीदने का सौंदा किया. उस सौंदे के 5 लाख 5 हजार रुपए जब्त किए. इस पूरे प्रकरण में चार आरोपी होकर पुलिस ने दो को गिरफ्तार किया. शेष दो आरोपियों की खोजबीन जारी है. इस प्रकरण में पुलिस ने 110 ग्राम सोने के आभूषण कीमत 5 लाख 72 हजार रुपए, 39 हजार 211 रुपए की 600 ग्राम चांदी के आभूषण, नगद 5 लाख 50 हजार रुपए कुल 11 लाख 61 हजार 211 रुपए का माल जब्त किया. पुलिस अधीक्षक प्रशांत होलकर ने इस प्रकरण में विशेष ध्यान देकर सायबर सेल के माध्यम से आरोपियों को खोज निकाला. 

घर में ही मिला था 20 तोला सोना

हुरकट के घर से करीब 45 से 50 लाख के आभूषण, नगद चोरी होने की शिकायत दर्ज की थी. जिसके तहत पुलिस ने मामला भी दर्ज किया. परंतु उसके बाद शिकायतकर्ता हुरकट परिवार को 20 तोला सोना घर में ही मिला. जिससे उन्होने इसकी जानकारी पुलिस को दी थी.

मोबाईल लोकेशन रहा अहम सुराग

आरोपियों को खोजना पुलिस के लिए चुनौति बन गया था. परंतु मोबाईल लोकेशन अहम सुराग रहा. मोबाईल टावर लोकेशन से तथा हिंगनघाट शहर में घटना के समय बाहर गांव से आये मोबाईल लोकेशन तथा घटना के बाद बाहर गांव गए मोबाईल लोकेशन से पुलिस आरोपियों तक पहुंच सकी.