Gavbandi

    खरांगणा-मोरांगणा. जिले में कोरोना संक्रमण का कहर बढ़ता ही जा रहा है. प्रतिदिन संक्रमितों की संख्या अधिक है. उसके साथ मृतकों का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है. इसका मुख्य कारण यह है कि अब कोरोना का संक्रमण छोटे-छोटे देहातों तक भी पहुंच गया है. ग्रामीणों को समय पर उपचार नहीं मिलने से तथा डर के कारण अनेकों को अपनी जान तक गंवानी पड़ रही है, जिस कारण अब दहशत में आये ग्रामीणों ने गांव में ही नाकाबंदी की है. इससे बाहरी गांव व शहर के लोग, मेहमानों के आने पर पाबंदी लगाई गई है. गांव के चौराहे पर ही लोगों को प्रवेश बंदी कर वापस भेजा जा रहा है. क्षेत्र के 1,500 के करीब जनसंख्या वाले दहेगांव (गोंडी) में भी ऐसे ही हालात है. यहा दिनों दिन बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते ग्रामीण दहशत में आ गए है.

    संक्रमण के खतरे से बचने की कोशिश

    इस कारण अब ग्रामपंचायत ने बाहरी लोगों के प्रवेश पर ही पाबंदी लगा दी है. गांव के बाहर पुल परिसर में कुछ लोग पहरा दे रहे हैं. मिली जानकारी के अनुसार गांव में पखवाड़े के भीतर कोरोना संक्रमण से तीन लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है, जिसमें युवाओं का समावेश है. वहीं संक्रमितों की संख्या भी अधिक है. इस कारण ग्रामपंचायत ने गांवबंदी करने का निर्णय लिया है. ग्रामीण विभाग में कोरोना का संक्रमण बढ़ने से लोग दहशत में है.

    बाहर से आनेवालों को वापस लौटा रहे

    गांव के हर एक घर में कोरोना सदृश्य बुखार, सर्दी, खांसी के मरीज है. वहीं पाजिटिव निकलने के डर से लोग घरेलू उपचार ही कर रहे है. इससे संक्रमण अधिक बढ़ने से काफी दिक्कतें हो रही है. कुछ लोग पाजिटिव होकर भी गांव में घूम रहे है. परिणाम स्वरुप नागरिकों में डर का माहौल बना हुआ है. इस स्थिति में ग्रामीणों को बचाने के लिए अब ग्रामपंचायत ने ही पहल की है. दहेगांव गोंडी ग्रामपंचायत में सरपंच के नेतृत्व में गांव के प्रवेश द्वार पर नाकाबंदी की गई है, जिससे बाहर गांव से आने वालों को बाहर ही रोककर वापस भेजा जा रहा है.

    ZP स्कूल को किया गया अधिग्रहित

    गांव में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते व कोरोना संक्रमित गांव में घूमने के कारण अब ग्रामपंचायत ने जिप स्कूल को अधिग्रहित कर कोविड क्वारंटाइन सेंटर शुरू किया है. इससे कोरोना संक्रमित मिलने पर उसे जिप स्कूल में क्वारंटाइन किया जा रहा है. फिलहाल गांव में 6 लोग पाजिटिव होकर जिप स्कूल में क्वारंटाइन है. उन पर डा़ चैताली चांदेवार उपचार कर रही है. वहीं आशावर्कर भी मरीजों पर ध्यान रखे हुए हैं.

    हर गांव में समस्याएं बरकरार

    जिले के हर गांव में ऐसे ही हालात होने के साथ विभिन्न समस्याएं कायम है. इस कारण ग्रामीणों में डर का माहौल बना हुआ है. ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना का संक्रमण तेजी के साथ फैलता जा रहा है. इस स्थिति में प्रशासन से देहातों में कोरोना का संक्रमण नियंत्रित करने पर विशेष ध्यान देने की मांग की जा रही है.