Covid Curfew Updates: covid curfew increased in Andhra Pradesh, restrictions will continue till June 10
File Photo

    वर्धा. राज्य में कोरोना की दूसरी लहर ने कोहराम मचा रखा है़ जिले में भी प्रतिदिन बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे है़ मृतकों का आंकड़ा भी थमने का नाम नहीं ले रहा है. जनता की बेफिकरी ने भी प्रशासन का टेंशन बढ़ा दिया है़ ऐसे में प्रशासन कभी भी सख्त कदम उठा सकता है़ वर्तमान स्थिति को देखते हुए जिला फिर एक बार लाकडाउन की कगार पर पहुंचता हुआ दिखाई दे रहा है. बता दें कि दिसंबर 2020 तक जिले में कोरोना मरीजों की संख्या में कमी आ गई थी़ इससे प्रशासन व नागरिक राहत महसूस करने लगे थे.

    लगभग सभी उद्योग, व्यापार, मार्केट पूरी क्षमता के साथ खुल गए. धार्मिक, सांस्कृतिक, क्रीड़ा, राजनीतिक, विवाह समारोह में भी किसी प्रकार की रोकटोक नहीं थी. मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई गई. बेखौफ होकर लोग मुक्त विचरण करते नजर आए़ इस दौर में प्रशासन भी सुस्त हो गया था. जनवरी 2021 खत्म होते ही फरवरी के पहले दिन से ही जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा होते दिखाई दिया़ समय रहते उचित कदम न उठाने के कारण फरवरी के अंतिम दिनों में कोरोना का विस्फोट जिले में हुआ़ इससे हड़बड़ाकर जागे प्रशासन ने प्रतिबंधात्मक उपाय योजना आरंभ कर दी़ परंतु इसका कोई असर देखने नहीं मिल रहा.

    प्रतिबंधात्मक उपाय योजना का असर नहीं 

    फरवरी की तुलना में मार्च में कोरोना संक्रमित मरीज अधिक बढ़ गए है़  मार्च के पंद्रह दिनों में ही स्थिति चिंताजनक हो गई है़  उल्लेखनिय यह कि, बाधितों के साथ-साथ मृतकों का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है़  इससे प्रशासन पूरी तरह से सकते में आ गया है़  डेढ़ माह में जिले में चार बार 36-36 घंटे का कर्फ्यू लगाया गया, परंतु इसका कोई असर नहीं हुआ़  प्रति दिन डेढ़ सौ से दो सौ मरीज जिले में मिल रहे है़ं  इससे आगामी दिनों में जिला फिर एक बार लाकडाउन की कगार पर दिखाई दे रहा है़ 

    स्थिति के अनुसार लेंगे निर्णय

    वर्तमान स्थिति में जनता का प्रतिसाद प्रशासन को मिल रहा है़  विविध धार्मिक संस्था, सामाजिक व व्यापारी संगठनों के साथ चर्चा हुई है़  प्रशासन प्रतिबंधात्मक उपाय पर जोर दे रहा है. स्थिति को नियंत्रण में लाने की पूरी कोशिश है. नियम तोड़ने वालों पर कार्रवाई की जा रही है. कोरोना पाजिटिविटी व मृत्यु अनुपात आदि बातों पर विचार विमर्श शुरू है. स्थिति के अनुसार आगामी निर्णय लिया जाएगा़ फिलहाल वरिष्ठस्तर से ऐसे कोई निर्देश प्राप्त नहीं हुए है. 

    -प्रेरणा देशभ्रतार, जिलाधिकारी 

    388 संक्रमितों ने गंवाई जान

    जिले में दिसंबर 2020 में कोरोना से मृत्यु की संख्या 270 थी, जो ढाई माह में बढ़कर 388 पर पहुंच गई है़  इसके साथ ही बाधितों की संख्या 14 हजार 946 हो गई़  इसकी तुलना में कोरोनामुक्त होने वालों की संख्या 13 हजार 316 बताई जा रही है़  इसमें सर्वाधिक मरीज शहरी क्षेत्र में पाये जा रहे है़ं  इन आंकडों ने प्रशासन के होश उड़ा दिए है़  अब जनता ने भी इन आंकड़ों से सुध लेने का समय आ गया है. 

    माह      मृत्यु     बाधित     मुक्त

    जनवरी   36     1,067     976

    फरवरी   36     2,263    1,476

    मार्च     46      2,594    2,422

    —————————

    कुल :  118       5,924     4,874

    ———————–

    -74 दिनों में 118 की मौत

    -5,924 नए पाजिटिव मिले

    -दिसंबर तक मृतक संख्या 270 

    -पिछले ढाई माह बढ़कर 388

    -कुल बाधित संख्या 14,946 

    -कोरोना से मुक्त हुए 13,316