Online Exam, Tech

  • विवि परीक्षा के पहले दिन ही सामने आई तकनीकी समस्या
  • अनेक छात्र परीक्षा से रहे वंचित

वर्धा. रातुम नागपुर विवि की परीक्षा गुरुवार से आरंभ हुई. लेकिन पहले दिन ही तकनीकी समस्या सामने आने से ऑनलाइन परीक्षा की खामियां उजागर हो गई. अनेक छात्र परीक्षा से वंचित रहे. आनलाइन परीक्षा से छात्रों का भविष्य संकट में आया है. नागपुर विवि ने 25 मार्च से बीए, बीकॉम, बीबीए, बीएससी व अन्य यूजी पाठयक्रम के 5वें सत्र की परीक्षा ऑनलाइन लेने की घोषणा की थी. आननफानन में यह फैसला लेने के कारण बुधवार की रात तक अनेक कॉलेजों के अधिकांश हॉल टिकट नहीं मिले थे.

गुरुवार को सुबह 8 से 11 बजे के दौरान बी कॉम व बीबीए की परीक्षा थी. छात्रों के आईकॉर्ड पर यूजर आईडी व पासवर्ड दिया गया था. लॉग इन होने के बाद 40 प्रश्न हल करने के लिये छात्रों को 1 घंटे का समय दिया गया था. आज सुबह 8 बजे बीकॉम व बीबीए के छात्र विवि ने दिए पोर्टल पर लॉग इन करने बैठे तो एरर बताया गया. बार-बार कोशिश करने के उपरांत भी यह एरर दूर नहीं हुआ.

शिक्षकों के फोन गूंजे

पोर्टल पर तकनीकी समस्या आने से छात्र परेशान होने से उन्होंने तुरंत कॉलेज के शिक्षकों से संपर्क शुरू किया. एक के बाद एक छात्र का फोन आने से शिक्षक भी परेशान हुए. प्राचार्य को पूरे घटनाक्रम की जानकारी शिक्षकों व्दारा दी गई. तपश्चात विवि प्रशासन को अवगत कराया गया. विवि प्रशास व संबंधित एजेन्सी ने आधे घंटे के भीतर समस्या हल होने की बात कही. परंतु 11 बजे तक तकनीकी समस्या हल नहीं हुई. जिससे बी कॉम के छात्र परीक्षा से वंचित रहे.

प्रोमार्क कंपनी बनी सिरदर्द

विवि ने ऑनलाइन परीक्षा व आवेदन पत्र का काम प्रोमार्क कंपनी को सौंपा है. किंतु कंपनी के कामकाज को लेकर निरंतर शिकायतें आ रही हैं. ग्रीष्मकाल 2020 की ऑनलाइन परीक्षा के दौरान भी ऐसी ही समस्या निर्माण होने से विवि ने अन्य कंपनी ठेका देने का निर्णय लिया था. परंतु ऐन समय पर लिये गये फैसले के कारण दूसरी कंपनी ऑनलाइन परीक्षा लेने के लिये तैयार नहीं हुई. जिससे प्रोमार्क को ही काम दिया गया. कंपनी के पास पर्याप्त सुविधा नहीं होने के बावजूद कंपनी ने यह काम लेने से विवि की साक पर सवालिया निशान लग गया है.

बीएससी व अन्य परीक्षा में भी गड़बड़ी

बीकॉम की परीक्षा होने के बाद दोपहर 11.30 से 2.30 बजे तक बीएससी व 3 से शाम 6 बजे तक बीए व अन्य पाठयक्रम की ऑनलाइईन परीक्षा हुई. इस दौरान भी यही समस्या निर्माण हुई. बीएससी के कुछ छात्र लागइन हुए, परंतु दो से तीन प्रश्न हल करने के उपरांत टाइमआउट का मैसेज आया. जिससे उन छात्रों का भी नुकसान हुआ.

परीक्षा हुई रद्द

पहले दिन ही परीक्षा में तकनीकी समस्या आने के कारण छात्र परीक्षा से वंचित रहने के कारण विवि ने दोपहर में बैठक लेकर परीक्षा में आई गड़बड़ी को लेकर मंथन किया. जिसके बाद गुरुवार की सभी परीक्षाएं रद्द करने के संदर्भ में परीक्षा मूल्यमापन मंडल के संचालक डा.साबले ने पत्र जारी कर गुरुवार के पेपर कब होंगे, इसकी तारीख जल्द घोषित करने की जानकारी दी.

शिकायतें प्राप्त हुईं

बी कॉम के छात्रों ने सरर्वर एरर के बारे में शिक्षकों को शिकायतें कीं. यह परीक्षा विवि ने ऑनलाइन ली थी. जिसमें कॉलेज का कोई रोल नहीं था. विवि के हेल्पलाइन नंबर से निरंतर संपर्क कर जानकारी दी गई.

-डा.साहेबराव चव्हाण, प्राचार्य, जी एस कॉमर्स कॉलेज वर्धा

विवि के निर्णय की प्रतीक्षा

छात्र परीक्षा से वंचित रहने की शिकायतें मिली हैं. यह परीक्षा विवि ने आयोजित की थी. कॉलेज ने केवल कॉर्ड बांटे तथा विवि की और से प्राप्त जानकारी उन्हें भेजी. छात्रों का नुकसान नहीं होना चाहिए. अब विवि ने इस पर निर्णय लेते हुए छात्रों को राहत देनी चाहिए.

-डा.संजय कानोडे, प्राचार्य, विद्याभारती कॉलेज सेलू