अति सौम्य लक्षण वाले मरीजों को मिलेगी होम आइसोलेशन की अनुमति

  • जिलाधिकारी विवेक भीमनवार ने दी जानकारी

वर्धा. जिले में कोरोनाबाधितों की संख्या बढते ही जा रही है़ ऐसी स्थिति में अनेक मरिज कोविड केअर सेंटर में रहने के डर से जांच के लिए सामने नहीं आ रहे़ ऐसी स्थिति में कोरोना का फैलाव बढने की आशंका है़ होम आईसोलेशन के नियम अधिक शिथील करने की आवश्यकता है़ परिणामवश जिलाधिकारी विवेक भीमनवार ने कोरोनाबाधित परंतु अतिसौम्य लक्षण होनेवाले एवं लक्षण न होनेवाले मरिज जिन्हें इन्स्टिट्यूशन क्वारंटाईन रहने की इच्छा नहीं, ऐसे मरिजों को स्वयंघोषणापत्र पेश करने पर होम आईसोलेशन में रहने की अनुमति दी जाएगी. ऐसी जानकारी जिलाधिकारी विवेक भीमनवार ने दी.

होम आईसोलेशन में संबंधित मरिज व उनके परिजनों ने कुछ गंभीरता से ध्यान रखने संदर्भ में मार्गदर्शन सूचना दी गई है़ होम आईसोलेशन के काल में मरिज की इच्छा होने पर वें निजी चिकित्सक की सलाह पर दवाई ले सकते है़ इसके लिए उन्हें ‘मेडोट्रॅक’ इस मोबाईल एप का उपयोग करना होगा़ निजी चिकित्सक की सेवा अथवा औषधी लेने के लिए इसका खर्च संबंधित मरिज अदा करेंगा़ एखाद मरिज को अस्पताल में दाखिल करना हो तो सरकारी नियमानुसार अस्पताल में ईलाज किया जाएगा़ होम आईसोलेशन काल में जो मरिज सरकारी वैद्यकीय सेवा लेने इच्छूक है, तो उन्हें नि:शुल्क स्वास्थ्य सेवा प्रदान की जाएगी़ साथ ही उन्हें संपर्क के लिए परिचारिका अथवा वैद्यकीय अधिकारी के मोबाईल क्रमांक दिए जाएंगे.

होम आईसोलेट होनेवाले मरिज अथवा परिवार के सदस्यों ने चिकित्सक की सलाह के बिना बगैर किसी अनुमति के बाहर निकलने पर आपदा प्रतिबंधात्मक कानून अधिनियम 2005 एवं भारतीय साथरोग अधिनियम 1897 के नुसार एवं भारतीय दंड विधान 188 अंतर्गत कानूनी कार्रवाई की जाएगी़ होम आईसोलेशन के नियमो का उल्लंघन करने पर 10 हजार रुपये का जुर्माना ठोका जाएंगा़ साथ ही 14 दिनों तक संपूर्ण परिवारों को इस्टिट्यूशन क्वारंटाईन में रखा जाएंगा़ परिणामवश उक्त नई उपाययोजना के अनुसार अधिक से अधिक लोगों ने कोविड जांच कराने का आवाहन जिलाधिकारी विवेक भीमनवार ने किया है़