File Photo
File Photo

    वर्धा. पुलिस दल में प्रतिवर्ष मार्च अथवा अप्रैल माह में जिलास्तर पर वार्षिक सर्वसाधारण तबादलों की प्रक्रिया पुर्ण हो जाती है़ परंतु इस बार कोरोना संकट के चलते यह प्रक्रिया अटकी हुई है़ वरिष्ठ स्तर से आदेश जारी होने के कारण जिले के पुलिसकर्मी व अधिकारियों को सितम्बर तक तबादले की प्रतीक्षा करनी होगी़ 

    बता दे कि, पुलिस दल में पांच वर्ष का कार्यकाल पूर्ण करनेवाले व अवधी से पहले तबादले के लिए इच्छूक कर्मियों के लिए प्रतिवर्ष वार्षिक सर्वसाधारण तबादला प्रक्रिया चलायी जाती है़ अमुमन यह तबादले मार्च से मई के शुरुवाती दिनों में हो जाते है़ परंतु राज्य में कोरोना संकट के चलते सर्वत्र हाहाकार मचा हुआ है़.

    गत तीन माह से कोरोना की दूसरी लहर ने कहर बरपाया़ मृतक व संक्रमितों के आंकडे बढने से सरकार ने सख्त निर्बंध लगाने का निर्णय लिया़ लाकडाउन भी जारी कर दिया़ इन सब के बिच पुलिस विभाग की जिम्मेदारी अधिक बढ गई़ परिणामवश प्रतिवर्ष चलनेवाली तबादलों की प्रक्रिया को लेकर कर्मियों में संभ्रम बना हुआ था़.

    किन्तु गृहमंत्रालय से जारी हुए शासन आदेश में तबादलो पर सितम्बर माह तक ब्रेक लगा दिया है़ ऐसे में पुलिस अधिकारी व कर्मियों को और कुछ दिनों तक प्रतीक्षा करनी पडेगी़ इस आदेश से तबादले की उम्मीद लगाए बैठे पुलिसकर्मियों में निराशा छायी हुई है़ 

    गत वर्ष भी हुई थी देरी

    वर्ष 2020 में भी कोरोना की पहली लहर के चलते तबादलो की प्रक्रिया रोक दी गई थी़ जो सितम्बर माह में ली गई़ गत वर्ष की तरह इस बार भी कोरोना संकट के चलते तबादले की प्रक्रिया पर रोक लग गई है़