कार्य के गुणवत्ता की होगी जांच

  • राज्यमंत्री तनपुरे ने दिए विभाग को निर्देश

वर्धा. अमृत योजना के अंतर्गत भूमिगत गडर योजना के काम के संबंध में नागरिकों की अनेक शिकायतें है़ काम करते समय हादसे न घटे इसलिए जनता की सुरक्षा की दृष्टि से उपाय योजना की जाए. काम की गुणवता त्रयस्थ संस्था के माध्यम से जांचने के निर्देश नगर विकास, ऊर्जा, उच्च व तकनीकि शिक्षा एवं आदिवासी विकास राज्यमंत्री प्राजक्त तनपुरे ने जाएका बैठक में दिए.

जिलाधिकारी कार्यालय में नगर परिषद क्षेत्र में भूमिगत गडर योजना के काम का जायजा लिया़ इस प्रसंग पर जिलाधिकारी विवेक भीमनवार, पुलिस अधीक्षक प्रशांत होलकर, नप के मुख्याधिकारी विपीन पालीवाल उपस्थित थे़ वर्धा नप क्षेत्र में जारी गडर योजना का काम समय रहते पूर्ण करें.

मार्च 2020 तक काम पूर्ण होना चाहिए था़ किन्तु कोरोना के कारण इसे समयावधि बढ़ा दी गई़ आगे से काम के संदर्भ में किसी भी तरह की शिकायत नहीं आनी चाहिए़ जनता की समस्या पर तुरंत एक्शन ली जाए़ सीमेंट-कांक्रीट की गुणवता नियमानुसार रखे़ अन्य सभी बातों पर उचित ध्यान दे़ं काम के ठिकानों पर सूचना तख्ती लगाने के निर्देश दिए. आदिवासी व पारधी समाज के जाति प्रमाणपत्र देने के लिए विशेष शिविर का आयोजन करने की सूचना दी.

भूमिगत गडर योजना की समीक्षा बैठक

आदिवासी विकास विभाग का जायजा लेते हुए राज्यमंत्री ने आदिवासी तथा पारधी समाज के नागरिकों को अनेक योजना का लाभ जाति प्रमाणपत्र के अभाव से नहीं मिल रहा़  इसलिए समाज को जाति के प्रमाणपत्र वितरण करने विशेष शिविर आयोजित करें. कोरोना की तर्ज पर निवासी आश्रम शाला शुरू करते समय स्वछता तथा कोरोना उपाय योजना पर विशेष एहतियात बरते़ं आदिवासी विद्यार्थियों को नामांकित स्कूलों में प्रवेश देने पर विद्यार्थी ऐसे स्कूल में पढ़ाई में पिछे न रहें, इस ओर ध्यान दे़ं  खावटी अनुदान योजना में 16 हजार 407 आदिवासी बंधुओं को अनुदान वितरित किये जाने की जानकारी आदिवासी विकास विभाग के प्रभारी अपर आयुक्त तथा प्रकल्प अधिकारी दीपक हेडाऊ ने दी.